बढ़ी फीस जमा करने की तारीख, आज ही करना होगा रजिस्ट्रेशन

बढ़ी फीस जमा करने की तारीख, आज ही करना होगा रजिस्ट्रेशन

आखिरकार लाखों उम्मीदवारों को थोड़ी राहत देते हुए  उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने प्रारंभिक अर्हता परीक्षा (पीईटी), 2021 के लिए आवेदन शुल्क भुगतान की तिथि 25 जून 2021 तक के लिए बढ़ा दी है। आयोग द्वारा आज, 21 जून 2021 को जारी आधिकारिक नोटिस के अनुसार, हालांकि, उम्मीदवारों को अपना रजिस्ट्रेशन आज ही कर लेना होगा। यूपी पीईटी 2021 रजिस्ट्रेशन आज रात मध्यरात्रि को बंद हो जाएगा। दूसरी तरफ, आयोग के नोटिस के अनुसार, आज दोपहर 3 बजे तक कुल 26 लाख से अधिक उम्मीदवारों ने परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन किया है, लेकिन इनमें से सिर्फ 17 लाख से अधिक उम्मीदवार ही अपना आवेदन अंतिम रूप से सबमिट कर पाए हैं। इतनी बड़ी संख्या के अप्लीकेशन कंपलीट न कर पाने के कारण आयोग ने फीस जमा करने की आखिरी तारीख बढ़ाई है।

उम्मीदवार कर रहे थे मांग

यूपीएसएसएससी दवारा आयोजित की जाने वाली पहली प्रारंभिक अर्हता परीक्षा (पीईटी), 2021 के लिए आवेदन की आज, 21 जून 2021 को आखिरी तारीख है। आवेदन की प्रक्रिया आयोग की ऑफिशियल वेबसाइट, upsssc.gov.in पर पूरी की जानी है। हालांकि, दूसरी तरफ आयोग की वेबसाइट पर तकनीकी समस्याएं आ रही हैं। यूपीएसएसएससी की वेबसाइट या तो खुल नहीं रही है या खुलने के बाद अप्लीकेशन पेज ओपेन नहीं हो रहा है। ऐसे में यूपी पीईटी परीक्षा 2021 के लिए आवेदन करने की कोशिश कर रहे उम्मीदवार आखिरी तारीख को बढ़ाने मांग कर रहे हैं। इन उम्मीदवारों द्वारा सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश सीएम योगी आदित्यनाथ से लेकर, मुख्यमंत्री कार्यालय, विभिन्न मंत्रियों और सरकार के प्रमुखों से यूपी पीईटी 2021 अप्लीकेशन डेट बढ़ाने की मांग की जा रही है।

तीन दिनों से काम नहीं कर रही वेबसाइट

यूपी पीईटी 2021 अप्लीकेशन सबमिट करने में आ रही दिक्कतों को साझा करते हुए एक उम्मीदवार ने रविवार, 20 जून 2021 को सोशल मीडिया पर साझा किया कि आवेदन की आखिरी तारीख 21 जून है लेकिन यूपीएसएसएससी की वेबसाइट पिछले 2 दिनों से काम नहीं कर रही है। इस उम्मीदवार ने आयोग से अपील की कि या तो आवेदन की आखिरी तारीख बढ़ा जाए या प्रारंभिक अर्हता परीक्षा को ही रद्द कर दिया जाए।

मुख्यमंत्री से गुहार

इसी प्रकार, उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की वेबसाइट पर आ रही तकनीकी समस्याओं से परेशान होकर एक अन्य उम्मीदवार मुख्यमंत्री को टैग करते हुए ने कहा, “@myogiadityanath अभ्यर्थियों का संघर्ष फॉर्म भरने से शुरू होता हैं और जॉइनिंग लेटर आने के बाद तक संघर्ष करता है ये किस तरह के आयोग हैं जो एक वेबसाइट तक संभाल नही पाते। आज तीसरा दिन हो गया हैं सर्वर डाउन हुए। #UPSSSC_PET की अंतिम तिथि बढ़ाई जानी चाहिए।”


NEAT 2.0 के लिए CareerLabs के साथ साझेदारी करेगा AICTE

NEAT 2.0 के लिए CareerLabs के साथ साझेदारी करेगा AICTE

 अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् (AICTE) ने देश भर के छात्रों के लिए नीट 2.0 (NEAT 2.0) के लिए बैंगलोर स्थित करियर बिल्डिंग प्लेटफार्म, करियरलैब्स (CareerLabs) के साथ साझेदारी की घोषणा की है। साझेदारी के परिणामस्वरूप, करियरलैब्स का प्रोफाइल बिल्डर लाइट प्रोडक्ट अब नामांकन के लिए पूरे भारत में सभी इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों के लिए उपलब्ध होगा।

बता दें कि करियरलैब्स एक मिशन पर है, जो स्टूडेंट्स को बेहतर सीखने और प्रोफाइल निर्माण के एक रणनीतिक और संगठित दृष्टिकोण के माध्यम से बेहतर कमाई करने में सक्षम बनाता है। कंपनी ने 1 मिलियन से अधिक छात्रों को प्लेसमेंट और उच्च अध्ययन में अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में सक्षम बनाने के मिशन के साथ भारत का पहला प्रोफाइल बिल्डर प्लेटफॉर्म लॉन्च किया है। साझेदारी स्टूडेंट्स को भारत में कहीं से भी दूरस्थ रूप से एक ही मंच पर रोजगार योग्य कौशल और प्लेसमेंट के लिए योग्यता विकसित करने की अनुमति देगी। स्टूडेंट्स अपनी सुविधानुसार गुणवत्तापूर्ण शिक्षा अध्यापन तक पहुंच सकेंगे।

यह योजना समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के चुनिंदा छात्र-छात्राओं के लिए नि:शुल्क उपलब्ध होगी। गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को समाज के सभी वर्गों तक पहुंचाने के लिए छात्रवृत्ति की पहल की गई है। नि:शुल्क सीटों का आवंटन शैक्षणिक संस्थानों द्वारा एनईएटी पोर्टल पर उपलब्ध कराई गई जानकारी के आधार पर होगा। प्रारंभ में पोर्टल को केवल भारत के एआईसीटीई अनुमोदित सरकारी कॉलेजों में पायलट चरण के रूप में लॉन्च किया जाएगा।



मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मुख्य समन्वय अधिकारी, अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई), बुद्ध चंद्रशेखर ने साझेदारी के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि एआईसीटीई देश भर में स्टूडेंट्स की प्रोफाइल बिल्डिंग को बढ़ावा देने के लिए करियरलैब्स के साथ साझेदारी करके खुश है। इससे स्टूडेंट्स को रोजगार योग्य बनने में मदद मिलेगी। उन्होंने आगे कहा कि आत्मनिर्भर भारत की दिशा में योगदान करने के लिए NEAT 2.0 के तहत इसकी पहल की गई है।