बिहार: स्वरोजगार के लिए 10 लाख तक का लोन देगी नीतीश सरकार, इस दिन लागू हो रही योजना

बिहार: स्वरोजगार के लिए 10 लाख तक का लोन देगी नीतीश सरकार, इस दिन लागू हो रही योजना

पटना. पिछले ही महीने कैबिनेट से स्वीकृत हुई मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना और मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना को 1 जून 2021 से लागू करने की तमाम तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. बिहार के युवकों और युवतियों में उद्यमिता को बढ़ावा देने के मकसद से प्रस्तावित इन योजनाओं के तहत अभ्यर्थियों के आवेदन और उसके निष्पादन के लिए ऑनलाइन पोर्टल बनाने का कार्य पूरा कर लिया गया है. इसके अलावा बिहार में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए पहले से चल रही दो योजनाओं (मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अति पिछड़ा वर्ग उद्यमी योजना) के तहत भी नए सिरे से आवेदन मंगाए जाएंगे. यानी पूरे बिहार के युवक-युवतियों के लिए सरकारी सहायता प्राप्त कर स्वरोजगार शुरू करने या उद्योग लगाने के जबरदस्त अवसर उपलब्ध होंगे.
इन सभी चार योजनाओं को मिलाकर बिहार के सभी वर्ग के युवा-युवतियों के लिए अधिकतम 10 लाख रुपये तक का लोन बिना किसी ब्याज या लगभग न के बराबर ब्याज (सिर्फ 1 प्रतिशत) पर सरकार की तरफ से मुहैया कराया जाएगा. यानी बिहार के नए उद्यमियों के लिए बहुत बड़ा अवसर होगा और आत्मनिर्भर बिहार के लक्ष्य की दिशा में मील का पत्थर साबित होगी.
राशि का आवंटन
आत्मनिर्भर बिहार के सात निश्चय-2 के अंतर्गत स्वीकृत दोनों नई योजनाओं - मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के लिए 200-200 करोड़ रुपए की स्वीकृति भी दे दी गई है. उद्योग विभाग (@IndustriesBihar ) द्वारा संचालित सभी चार उद्यमी योजनाओं के लिए वित्तीय वर्ष 2021 -22 के लिए लक्ष्य दो हजार इकाई का रखा गया है. इसके अलावा राशि व्यय के आधार पर लक्ष्य को बढ़ाया भी जा सकता है.
1% ब्याज पर लोन
योजनाओं में मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना के तहत लाभुकों को उद्योग लगाने के लिए परियोजना लागत का 50% - अधिकतम रुपए 5 लाख तक का अनुदान और 50% अधिकतम रुपए 5 लाख तक का ब्याज मुक्त ऋण दिया जाएगा. जबकि मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के तहत परियोजना लागत का 50% - अधिकतम रुपए 5 लाख तक का अनुदान और 50% अधिकतम रुपए 5 लाख तक सिर्फ 1 प्रतिशत ब्याज सहित ऋण दिया जाएगा.
कैबिनेट की मिल चुकी है मंजूरी
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी के सात निश्चय संकल्प के तहत बिहार में रोजगार सृजन और आत्म निर्भर बिहार के निर्माण हेतु पहले से ही मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अति पिछड़ा वर्ग उद्यमी योजनाएं सफलता पूर्वक चल रही हैं. इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए उद्योग विभाग द्वारा तैयार मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना और मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना को कैबिनेट की स्वीकृति दी गई और इसे अब जल्द से जल्द लागू करने की तैयारी है.
अविलंब राशि उपलब्ध करवाने की तैयारी
1 जून 2021 से मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना और मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना, इन दोनों योजनाओं को लागू करने की तैयारी है. लाभुकों के चयन की प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी होगी और ये सुनिश्चित किया जाएगा कि चयन प्रक्रिया समयबद्ध तरीके से पूरा करने के साथ लाभुकों को सहायता राशि की उपलब्धता अविलंब हो.
पात्रता के लिए यह है शर्त
मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना के लिए पात्रता सभी वर्गों की महिलाओं के लिए है और बस इतना जरूरी है कि आवेदनकर्ता बिहार की निवासी हो और 12वीं या इंटरमीडिएट पास हो. वहीं मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के लिए पात्रता है कि आवेदनकर्ता पुरुष सामान्य और पिछड़ा वर्ग से हो और बिहार की निवासी होने के साथ 12वीं या इंटरमीडिएट पास हो. जबकि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अति पिछड़ा वर्ग के लिए उद्यमी योजना पहले से ही लागू है.
युवाओं को स्वाबलंबी बनाना लक्ष्य
बिहार के युवाओं में उद्यमिता को बढ़ावा देना, सरकार की तरफ से हर संभव मदद देकर युवाओं को स्वरोजगार के लिए तैयार करना, स्वाबलंबी बनाना सरकार का लक्ष्य है. उद्योग विभाग का दावा है कि बिहार के हर वर्ग के युवक-युवतियों को बढ़ते बिहार, आत्मनिर्भर बिहार के निर्माण में भागीदार बनाया जाएगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार  के सात निश्चय-2 (2020-25) के संकल्पों के तहत राज्य में अप्रत्याशित रोजगार सृजन के लक्ष्य को हासिल करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी.


जाने क्या है बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना और आप कैसे कर सकते है इसके लिए ऑनलाइन आवेदन

जाने क्या है बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना और आप कैसे कर सकते है इसके लिए ऑनलाइन आवेदन

बिहार सरकार की एक महत्वपूर्ण योजना हरित कृषि संयंत्र योजना के बारे में बताने जा रहे हैं हम अपने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको यह बताएँगे कि किस प्रकार आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं। और किस तरह आप ऑनलाइन आवेदन करके अपने फॉर्म सबमिट करवा सकते हैं। आपको बता दे कि बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना बिहार सरकार द्वारा शुरू की गयी योजनाओं में से एक है। बिहार के किसान कृषि से सम्बंधित मशीनों को खरीदने के लिए अक्सर असमर्थ होते हैं, जिससे उन्हें कृषि कार्य में कई अड़चने आती हैं, और उसका असर कृषि पर भी पड़ता है. लेकिन बिहार राज्य सरकार, अपने राज्य के किसानों की मुश्किलों को कम करते हुए मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना लेकर आ रही है, बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना के तहत बिहार सरकार सभी किसान जो कि आर्थिक रूप से कमजोर हैं, सीधे राज्य सरकार से कृषि से सम्बंधित मशीनों को किराए पर ले सकते हैं। और इसके लिए उन्हें केवल नाममात्र का किराया देना होगा। तो चलिए बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना से जुड़ी अन्य जानकारियां आप हमारे इस आर्टिकल  के माध्यम से ले सकते हैं।

बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना 2021 की विशेषताएं (Bihar Mukhyamantri Harit Krishi Sanyantra Yojana 2021: Objectives)
भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 2022 तक किसानों की आये को दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। और इसी लक्ष्य को पूरा करने के लिए भारत सरकार किसानों के हित मे कई योजनाओ का संचालन भी कर रही है। और अब इसी लक्ष्य को पूरा करने के लिए बिहार सरकार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हाल ही में राज्य के किसानों के लिए एक नई योजना की शुरुआत की है जिसका नाम मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना रखा है मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना के अंतर्गत राज्य के किसान खेती-बाड़ी से जुड़े मशीनों को खरीदने के लिए असमर्थ होते हैं। यानी कि किसान के पास कृषि संयंत्र के लिए रुपए नहीं है उनके लिए राज्य सरकार की तरफ से कृषि यंत्र खरीदने के लिए बिहार राज्य सरकार कृषि यंत्र देने जा रही है। ताकि बिहार राज्य के किसानों को खेती करा आसान हो सके। तो अगर आप बिहार राज्य में मूल रूप से निवास करते है और इस मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना का लाभ लेना चाहते है तो यह आर्टिकल आपको काफी हद तक सहायता करेगा।

बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना 2021 के लिए जरुरी दस्तावेज (Bihar Mukhyamantri Harit Krishi Sanyantra Yojana 2021: Required Documents)
आवासीय पात्रता:- इस योजना का लाभ बिहार के किसानों को प्रदान किया जाना है। अतः इसके लिए आवेदन करते समय उन्हें अपना आवासीय प्रमाण जमा करना आवश्यक है।

पहचान के लिए:- इस योजना में जुड़ने वाले सभी किसानों को अपनी पहचान के लिए आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड या राशन कार्ड की फोटोकॉपी आवेदन फॉर्म के साथ जमा करनी होगी।

बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना 2021 के लिए ऑनलाइन आवेदन (Bihar Mukhyamantri Harit Krishi Sanyantra Yojana 2021: Online Registration)
इस मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना की अधिकारिक तौर पर घोषणा बिहार केबिनेट कमिटी द्वारा की गई है। इस योजना में स्थापित किये जाने वाले कृषि संयंत्र बैंक के निर्माण में कुछ समय लगेगा। इस मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना के लिए अभी तक ऑनलाइन आवेदन शुरू नहीं हुए हैं। इसलिए इस योजना को लागू करने की एवं इसमें आवेदन करने की प्रक्रिया की घोषणा अभी नहीं की गई है। जैसे ही इसकी घोषणा की जाएगी, हम अपने आर्टिकल के जरिये सारी जानकारी को अपडेट कर देंगे। कुछ समय पहले सरकार ने किसानों की आय को दोगुनी करने का फैसला लिया था। ऐसे में यह योजना का लागू होना, इसके लिए एक बड़ा कदम साबित हो सकता है। अतः इस योजना से राज्य में कृषि उत्पादन को बढ़ावा देने एवं सन 2022 तक किसानों की आय दोगुनी होने की संभावना है।