बिहार सरकार रोजगार के लिए दे रही इतने लाख रुपए, यहां जानिए स्‍टेप बाय स्‍टेप प्रोसेस

बिहार सरकार रोजगार के लिए दे रही इतने लाख रुपए, यहां जानिए स्‍टेप बाय स्‍टेप प्रोसेस

बिहार में बेरोजगार युवाओं को स्‍वरोजगार और स्‍टार्टअप के लिए बढ़ावा देने के लिए सरकार ने अब तक की सबसे आकर्षक योजना लांच कर दी है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्‍यमंत्री युवा उद्यमी योजना और मुख्‍यमंत्री महिला उद्यमी योजना (Mukhyamantri Mahila Udyami Yojana) को शुक्रवार की शाम लांच किया। इन योजनाओं के तहत युवाओं को बिजनेस के लिए 10 लाख रुपए तक का लोन 50 फीसद अनुदान के साथ मिलेगा। इसका लाभ बिहार में रहने वाले हर वर्ग और जाति के लोग उठा सकते हैं। इस योजना के लिए आवेदन करने से पहले कुछ जरूरी बातें जरूर जान लें।

आधी रकम ही चुकानी होगी, बाकी सरकार देगी

योजना के तहत मिलने वाले 10 लाख के लोन में केवल पांच लाख रुपए ही चुकाने होंगे। और तो और महिलाओं को इस लोन के लिए कोई ब्‍याज भी नहीं देना होगा। अन्‍य को भी केवल एक फीसद ब्‍याज देना होगा। यह लोन चुकाने के लिए सात साल तक का समय मिल सकता है।


आवेदन की प्रक्रिया पूरी तरह ऑनलाइन

इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया पूरी तरह ऑनलाइन है। आवेदन करने के लिए आपके पास कुछ जरूरी कागजात होने चाहिए, जिसका ब्‍योरा हम आगे दे रहे हैं। यह योजना 18 जून 2021 को लांच की गई है। इस तारीख से तीन महीने तक आवेदन के लिए लिंक उपलब्‍ध रहेगा।

इस तरह करें आवेदन

योजना के आवेदन के लिए डायरेक्‍ट लिंक आपको इसी खबर में मिलेगा। आवेदन शुरू करने से पहले पूरी खबर को ठीक तरीके से पढ़ लें, साथ ही सरकार की ओर से जारी उपयोगकर्ता पुस्तिका को भी अच्‍छी तरह देख और समझ लें।


सबसे पहले आधार के जरिये रजिस्‍ट्रेशन

आवेदन के लिए दिए गए लिंक को ओपन करते ही आपके सामने सबसे पहले रजिस्‍ट्रेशन करने का पेज आएगा। इस पेज पर आपको अपना पूरा नाम, ईमेल आइडी, मोबाइल नंबर और आधार नंबर जैसी जानकारियां देनी होंगी। यह ध्‍यान रखें कि आधार कार्ड में वहीं नाम और मोबाइल नंबर दर्ज रहे, जो आप आवेदन में दे रहे हैं। एक मोबाइल और आधार नंबर से एक ही रजिस्‍ट्रेशन होगा। रजिस्‍ट्रेशन की प्रक्रिया आधार से लिंक आपके मोबाइल पर प्राप्‍त ओटीपी के जरिये पूरी होगी। रजिस्‍ट्रेशन प्रोसेस पूरा होने के बाद आप लॉग इन कर सकेंगे और इसके बाद आपको आवेदन करने का विकल्‍प सामने आएगा।


रजिस्‍ट्रेशन के वक्‍त चुनें योजना का नाम

रजिस्‍ट्रेशन के वक्‍त आपको योजना का नाम भी चुनना होगा। नए उद्यमियों के लिए सरकार ने अनुसूचित जाति-जनजाति, अति पिछड़ा वर्ग, महिला और सामान्‍य युवा के लिए चार अलग-अलग कोटियां निर्धारित की हैं। हर कोटि के लिए योजना के बाकी नियम तो लगभग एक जैसे हैं, लेकिन सबका कोटा अलग-अलग है। कोटा के तहत निर्धारित संख्‍या के आधार पर ही योजना का लाभ मिलेगा। यह योजना असीमित लाभुकों के लिए नहीं है।


आवेदन में इन चीजों का रखें ध्‍यान

आवेदन के पहले पेज पर आपको व्‍यक्तिगत जानकारी जैसे नाम, लिंग, जन्‍मतिथि, माता-पिता का नाम, वैवाहिक स्थिति, पूरा पता, मोबाइल नंबर, ईमेल आइडी, योजना का नाम, आवेदक की जाति और शैक्षणिक जानकारी देनी होगी।
आवेदन के दूसरे पेज पर भी आपको शैक्षणिक और अपने उद्योग प्रोजेक्‍ट से संबंधित प्रशिक्षण के विषय में विस्‍तार से जानकारी देनी होगी। यह ध्‍यान रखें कि अगर आपने किसी संस्‍थान से प्रोजेक्‍ट के संबंध में प्रशिक्षण लिया है तो आपको चयन के समय वरीयता मिल सकती है।
आवेदन के अगले पेज पर आपको पारिवारिक स्थिति और अपने व्‍यवसाय के संबंध में अलग-अलग कॉलम में जानकारियां देनी होंगी।
इसके बाद आपको अपने व्‍यवसाय संगठन के बारे में जानकारी देनी होगी। ध्‍यान रखें कि इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको व्‍यवसाय के लिए निबंधित फर्म होना चाहिए। यह फर्म प्रोपरायटरशिप, पार्टनरशिप, एलएलपी अथवा प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के रूप में हो सकती है।
अगले पेज पर आपको अपने प्रोजेक्‍ट, उसके लिए उपलब्‍ध भूखंड और अन्‍य संरचनाओं के साथ ही उद्योग संबंधी प्रशिक्षण का ब्‍योरा देना होगा।
प्रोजेक्‍ट की लागत और बैंक खाते से संबंधित जानकारी आपको अगले पेज पर देनी होगी। सबसे आखिर में आपको जरूरी दस्‍तावेज अपलोड करने और आवेदन का प्रिव्‍यू देखने का मौका मिलेगा। इसके बाद आप आवेदन को सबमिट कर सकेंगे। एक बार आवेदन सबमिट करने के बाद उद्योग विभाग आपको आगे की प्रक्रिया और नतीजे के बारे में सूचित करेगा।
इन 12 किस्‍म के दस्‍तावेजों को करना होगा अपलोड


1. जाति प्रमाण पत्र, 2. उम्र के लिए मैट्रिक का प्रमाणपत्र, 3. इंटरमीडिएट या समकक्ष का प्रमाणपत्र,  4. उच्‍चतम शैक्षणिक योग्‍यता का प्रमाणपत्र, 5. आवासीय प्रमाणपत्र, 6. फर्म/कंपनी के निबंधन का प्रमाणपत्र, 7. फर्म का या निजी पैन कार्ड, 8. जमीन से संबंधित लगान रसीद, एग्रीमेंट या किरायानामा, 9. कौशल विकास संबंधी प्रमाणपत्र (यदि हो तभी, यह अनिवार्य नहीं है।), 10. कैंसल चेक, 11. आवेदक की फोटो, 12. आवेदक के हस्‍ताक्षर की फोटो


ये चीजें भी जान लें

अपलोड किए जाने वाले सभी दस्‍तावेज जेपीजी, जेपीईजी, पीएनजी या पीडीएफ फार्मेट में ही होने चाहिए। अन्‍य किसी फार्मेट में दस्‍तावेज स्‍वीकार नहीं किए जाएंगे।
आवेदक के पास आधार नंबर, उसमें लिंक मोबाइल नंबर और एक ईमेल आइडी होना जरूरी है। पूरी प्रक्रिया में हमेशा एक ही मोबाइल नंबर और ईमेल आइडी का प्रयोग करें।
आवेदन पूरा भर लेने और सभी दस्‍तावेज अपलोड करने के बाद प्रिव्‍यू का आप्‍शन आएगा। इसमें पूरे आवेदन को सही तरीके से जांच लें और जरूरी होने पर बदलाव कर ठीक करें।
आवेदन सबमिट करते ही आपके सामने रसीद आ जाएगी। इसका प्रिंट अपने पास निकाल कर रख लें।
यह योजना असीमित नहीं है। यानी कि हर योजना के तहत लाभुकों की संख्‍या निर्धारित की गई है। इसकी जानकारी आप अपने जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक से ले सकते हैं। चयनित लाभुकों को ही योजना का लाभ मिलेगा।
आवेदक को प्रशिक्षण प्राप्‍त होना अनिवार्य नहीं है, लेकिन इसके आधार पर चयन में वरीयता मिल सकती है। अप्रशिक्षित इंटर पास युवा भी आवेदन कर सकते हैं।
चयन के बाद सरकार हर इकाई में कार्यरत लोगों को प्रशिक्षण देने के लिए 25 हजार रुपए की व्‍यवस्‍था करेगी।
पांच लाख रुपए लौटाने के लिए आपको सात साल यानी 84 महीने का वक्‍त मिलेगा।
पुराने उद्योगों को इसका लाभ नहीं मिलेगा। यह योजना केवल नए उद्यमियों के लिए ही है। चयनित उद्यमियों को बिहार औद्योगिक निवेश प्रोत्‍साहन नीति 2016 का भी लाभ मिलेगा।
प्रोपरायटरशिप फर्म के मामले में लाभुक अपने निजी पैन कार्ड के साथ भी आवेदन कर सकते हैं। फर्म का चालू खाता अर्थात करेंट अकाउंट होना जरूरी है। बचत खाता के साथ आवेदन नहीं किया जा सकता है।


जाने क्या है बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना और आप कैसे कर सकते है इसके लिए ऑनलाइन आवेदन

जाने क्या है बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना और आप कैसे कर सकते है इसके लिए ऑनलाइन आवेदन

बिहार सरकार की एक महत्वपूर्ण योजना हरित कृषि संयंत्र योजना के बारे में बताने जा रहे हैं हम अपने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको यह बताएँगे कि किस प्रकार आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं। और किस तरह आप ऑनलाइन आवेदन करके अपने फॉर्म सबमिट करवा सकते हैं। आपको बता दे कि बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना बिहार सरकार द्वारा शुरू की गयी योजनाओं में से एक है। बिहार के किसान कृषि से सम्बंधित मशीनों को खरीदने के लिए अक्सर असमर्थ होते हैं, जिससे उन्हें कृषि कार्य में कई अड़चने आती हैं, और उसका असर कृषि पर भी पड़ता है. लेकिन बिहार राज्य सरकार, अपने राज्य के किसानों की मुश्किलों को कम करते हुए मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना लेकर आ रही है, बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना के तहत बिहार सरकार सभी किसान जो कि आर्थिक रूप से कमजोर हैं, सीधे राज्य सरकार से कृषि से सम्बंधित मशीनों को किराए पर ले सकते हैं। और इसके लिए उन्हें केवल नाममात्र का किराया देना होगा। तो चलिए बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना से जुड़ी अन्य जानकारियां आप हमारे इस आर्टिकल  के माध्यम से ले सकते हैं।

बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना 2021 की विशेषताएं (Bihar Mukhyamantri Harit Krishi Sanyantra Yojana 2021: Objectives)
भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 2022 तक किसानों की आये को दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। और इसी लक्ष्य को पूरा करने के लिए भारत सरकार किसानों के हित मे कई योजनाओ का संचालन भी कर रही है। और अब इसी लक्ष्य को पूरा करने के लिए बिहार सरकार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हाल ही में राज्य के किसानों के लिए एक नई योजना की शुरुआत की है जिसका नाम मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना रखा है मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना के अंतर्गत राज्य के किसान खेती-बाड़ी से जुड़े मशीनों को खरीदने के लिए असमर्थ होते हैं। यानी कि किसान के पास कृषि संयंत्र के लिए रुपए नहीं है उनके लिए राज्य सरकार की तरफ से कृषि यंत्र खरीदने के लिए बिहार राज्य सरकार कृषि यंत्र देने जा रही है। ताकि बिहार राज्य के किसानों को खेती करा आसान हो सके। तो अगर आप बिहार राज्य में मूल रूप से निवास करते है और इस मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना का लाभ लेना चाहते है तो यह आर्टिकल आपको काफी हद तक सहायता करेगा।

बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना 2021 के लिए जरुरी दस्तावेज (Bihar Mukhyamantri Harit Krishi Sanyantra Yojana 2021: Required Documents)
आवासीय पात्रता:- इस योजना का लाभ बिहार के किसानों को प्रदान किया जाना है। अतः इसके लिए आवेदन करते समय उन्हें अपना आवासीय प्रमाण जमा करना आवश्यक है।

पहचान के लिए:- इस योजना में जुड़ने वाले सभी किसानों को अपनी पहचान के लिए आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड या राशन कार्ड की फोटोकॉपी आवेदन फॉर्म के साथ जमा करनी होगी।

बिहार मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना 2021 के लिए ऑनलाइन आवेदन (Bihar Mukhyamantri Harit Krishi Sanyantra Yojana 2021: Online Registration)
इस मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना की अधिकारिक तौर पर घोषणा बिहार केबिनेट कमिटी द्वारा की गई है। इस योजना में स्थापित किये जाने वाले कृषि संयंत्र बैंक के निर्माण में कुछ समय लगेगा। इस मुख्यमंत्री हरित कृषि संयंत्र योजना के लिए अभी तक ऑनलाइन आवेदन शुरू नहीं हुए हैं। इसलिए इस योजना को लागू करने की एवं इसमें आवेदन करने की प्रक्रिया की घोषणा अभी नहीं की गई है। जैसे ही इसकी घोषणा की जाएगी, हम अपने आर्टिकल के जरिये सारी जानकारी को अपडेट कर देंगे। कुछ समय पहले सरकार ने किसानों की आय को दोगुनी करने का फैसला लिया था। ऐसे में यह योजना का लागू होना, इसके लिए एक बड़ा कदम साबित हो सकता है। अतः इस योजना से राज्य में कृषि उत्पादन को बढ़ावा देने एवं सन 2022 तक किसानों की आय दोगुनी होने की संभावना है।