PM Kisan: 1.6 करोड़ किसानों के बैंक खाते में आने वाले है 2000 रुपये

PM Kisan: 1.6 करोड़ किसानों के बैंक खाते में आने वाले है 2000 रुपये

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम (PM Kisan) के तहत किसानों को हर साल 6000 रुपये मिलते है. ये रकम सीधे उनके खाते में ट्रांसफर की जाती है. अब उसकी 7वीं किस्त की रकम लोगों के खाते में पहुंची है. कृषि मंत्रालय के अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक, मार्च 2021 तक 11 करोड़  किसानों के खाते में 2000-2000 रुपये ट्रांसफर करने की योजना है. इसमें से अभी 9,41,90,188 किसानों के खाते में 2000 रुपये की सातवीं किस्त पहुंच चुकी है. 1.6 करोड़ किसान बाकी है. इसीलिए सरकार ने बाकी की रकम ट्रांसफर करने के लिए तैयारियां तेज कर दी है. जिन लोगों का आधार वैरिफिकेशन पूरा हो चुका है उनके खाते में मार्च तक रकम ट्रांसफर कर दी जाएगी.

सबसे पहले आपको देखना चाहिए कि कहीं कोई जानकारी तो गलत नहीं दे दी है. फार्मर कार्नर पर क्लिक करने के बाद Benificary status पर क्लिक करें. जिसके बाद वहां आधार नंबर, अकाउंट नंबर और फोन नंबर का विकल्प दिखेगा. यहां आप देख सकते हैं कि आपकी सूचना सही है या नहीं. अगर गलत है तो इसे सही करा सकते हैं. अगर आपका आवेदन किसी डॉक्युमेंट (आधार, मोबाइल नंबर या बैंक खाता) की वजह से रुका है तो वह डॉक्युमेंट भी ऑनलाइन अपलोड भी कर सकते हैं.

क्या है पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम
प्रधानमंत्री-किसान सम्मान निधि स्कीम (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi scheme) की सातवीं किश्त 25 दिसंबर से आनी शुरू हो गई है. इस स्कीम के तहत सालाना तीन किश्त में 6000 रुपये दिए जाते हैं.

पीएम किसान सम्मान योजना में केंद्र सरकार तीन किश्तों में यह पैसा ट्रांसफर करती है पहली किश्त 1 दिसंबर से 31 मार्च के बीच आती है, जबकि दूसरी किस्त 1 अप्रैल से 31 जुलाई और तीसरी किश्त 1 अगस्त से 30 नवंबर के बीच में किसानों के खाते में ट्रांसफर कर दी जाती है.

अगर कागजात दुरुस्त रहे तो सभी 11.17 करोड़ रजिस्टर्ड किसानों को सातवीं किश्त का लाभ भी मिलेगा. इसलिए अपना रिकॉर्ड चेक कर लें. ताकि पैसा मिलने में दिक्कत न हो. रिकॉर्ड में कोई भी गड़बड़ी होगी तो निश्चित तौर पर आपको योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा.

PM Kisan स्कीम में कैसे चेक करें रिकॉर्ड ठीक है या नहीं
पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम की ऑफीशियल वेबसाइट (pmkisan.gov.in) है. बेवसाइट को लॉग इन करना होगा. इसमें दिए गए ‘ Farmers Corner’ वाले टैब में क्लिक करना होगा.

अगर आपने पहले आवेदन किया है और आपका आधार (Aadhaar) ठीक से अपलोड नहीं हुआ है या किसी वजह से आधार नंबर गलत दर्ज हो गया है तो इसकी जानकारी इसमें मिल जाएगी.फार्मर कॉर्नर में किसानों को खुद को ही पीएम किसान योजना में रजिस्टर्ड करने का भी विकल्प दिया गया है.

इसमें सरकार ने सभी लाभार्थियों की पूरी सूची अपलोड कर दी है. आपके आवेदन की स्थिति क्या है. इसकी जानकारी किसान आधार संख्या/ बैंक खाता/ मोबाइल नंबर के जरिए मालूम कर सकते हैं.

जिन किसानों को इस योजना का लाभ सरकार की तरफ से दिया गया है उनके भी नाम राज्य/जिलेवार/तहसील/गांव के हिसाब से देखे जा सकते हैं.

PM Kisan स्कीम में कैसे चेक करें अपना नाम
अगर आपने इस योजना को फायदा लेने के लिए आवेदन किया है और अब अपना नाम लाभार्थियों की सूची में देखना चाहते हैं तो आपके लिए सरकार ने अब यह सुविधा ऑनलाइन भी मुहैया कराई है.

सरकारी वेबसाइट pmkisan.gov.in पर आप अपना नाम चेक कर सकते हैं. वेबसाइट खुलने के बाद मेन्यू बार देखें और यहां ‘फार्मर कार्नर’ पर जाएं. ‘लाभार्थी सूची’ के लिंक पर क्लिक करें.

अपना राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव विवरण दर्ज करें. इसके बाद आपको Get Report पर क्लिक करना होगा, जिसके बाद आपको जानकारी मिल जाएगी.

इस बार नहीं मिली किस्त तो क्या होगा
अगर किसी किसान का नाम स्टेट/UT गवर्नमेंट द्वारा पीएम किसान के पोर्टल पर अपलोड किया गया है. लेकिन किसी वजह से उसे 2000 रुपये की किस्त नहीं मिलती है तो उस कारण के समाधान के बाद उसे यह ड्यू उसके खाते में भेजा जाएगा.

लेकिन अगर किसी वजह से किसान का नाम सरकार द्वारा रिजेक्ट किया जाता है तो वह इसका पात्र नहीं होगा. किस्त आने में देरी की वजह कई हो सकती हैं, जैसे कि रजिस्ट्रेशन में गलत नाम, पता या बैंक अकाउंट की जानकारी देना. इसे सुधारने के बाद जो किस्त उसे नहीं मिली है, वह भी अगली किस्त के साथ खाते में भेज दी जाएगी.

सबसे पहले आपको देखना चाहिए कि कहीं कोई जानकारी तो गलत नहीं दे दी है. फार्मर कार्नर पर क्लिक करने के बाद Benificary status पर क्लिक करें. जिसके बाद वहां आधार नंबर, अकाउंट नंबर और फोन नंबर का विकल्प दिखेगा.

यहां आप देख सकते हैं कि आपकी सूचना सही है या नहीं. अगर गलत है तो इसे सही करा सकते हैं. अगर आपका आवेदन किसी डॉक्युमेंट (आधार, मोबाइल नंबर या बैंक खाता) की वजह से रुका है तो वह डॉक्युमेंट भी ऑनलाइन अपलोड भी कर सकते हैं.

PM Kisan की हेल्पलाइन पर लें जानकारी
पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर:155261
पीएम किसान टोल फ्री नंबर: 18001155266
पीएम किसान लैंडलाइन नंबर: 011—23381092, 23382401
पीएम किसान की एक और हेल्पलाइन है: 0120-6025109
ई-मेल आईडी: [email protected]


बिना आवेदन खाते में आए पैसेः PM किसान योजना में आई कुछ गड़बड़ी, इनको मिले रुपए

बिना आवेदन खाते में आए पैसेः PM किसान योजना में आई कुछ गड़बड़ी, इनको मिले रुपए

नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Scheme) के तहत देश भर के किसानों के लिए सातवीं किश्त जारी कर दी है। बता दें कि इस योजना के तहत देश के किसानों को सालाना तीन किश्तों में 6 हजार रुपये की मदद दी जाती है। ये राशि सीधे किसानों के बैंक अकाउंट (Bank Account) में ट्रासंफर की जाती है। लेकिन इस बीच इस स्कीम में फर्जीवाड़ा की घटनाएं सामने आ रही हैं।

UIDAI और TRAI के पूर्व चीफ के खाते में भेजे गए पैसे
इस योजना के तहत उन लोगों के खाते में भी पैसे पहुंचने की खबरें आ रही हैं, जो अपात्र हैं। पीएम किसान योजना के तहत उन लोगों के भी बैंक अकाउंट में पैसे पहुंच रहे हैं, जिन्होंने कभी भी अपने आपको रजिस्टर्ड ही नहीं कराया है। एक ऐसी ही ताजा खबर आई है, जिसमें पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत UIDAI और TRAI के पूर्व चीफ राम सेवक शर्मा के खाते में छह हजार रुपये भेजे गए हैं।

कभी स्कीम में नहीं कराया रजिस्ट्रेशन
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, IDAI और TRAI के पूर्व चीफ राम सेवक शर्मा (Ram Sewak Sharma) के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) बैंक अकाउंट में साल में तीन बार पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत छह हजार रुपये आ चुके हैं। जबकि शर्मा ने कभी भी इस योजना के लिए अपना नाम रजिस्टर ही नहीं कराया था। शर्मा ने कहा कि उन्होंने इस स्कीम में रजिस्ट्रेशन नहीं कराया, फिर भी उनका रजिस्ट्रेशन हो गया। इसकी जिम्मेदारी राज्य सरकार की है, सरकार ने बिना पहचान किए कैसे वेरिफिकेशन कर दिया।

अब अकाउंट को किया गया डिएक्टिवेट
रिपोर्ट में राम सेवक शर्मा के हवाले से बताया गया है कि इस साल उनके बैंक अकाउंट में दो हजार की तीन किश्तें आई हैं। उनके नाम से यह खाता आठ जनवरी, 2020 को खोला गया थी और करीब नौ महीने तक एक्टिव रहा। यह 24 सितंबर को डीएक्टिवेट हो गया है। शर्मा ने बताया कि वो यूपी के फिरोजाबाद जिले में एक किसान के तौर पर रजिस्टर्ड थे। उनके जिस खाते में पैसे आए थे, वह एक हिंदू अविभाजित परिवार का अकाउंट है, जिसका इस्तेमाल कृषि उपज और व्यय की बिक्री आय प्राप्त करने के लिए किया जाता था।

इससे पहले भी हो चुकी है गड़बड़ी
शर्माा को जब इस बात की जानकारी हुई तो उन्होंने इस बारे में बैंक को सूचित किया, हालांकि अब तक इसका कोई जवाब नहीं आया है। लेकिन शर्मा के नाम से बने खाते को डिएक्टिवेट कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि वो इस स्कीम के तहत पैसे पाने योग्य नहीं है, क्योंकि वो इनकम टैक्स भरते हैं। बता दें कि इससे पहले भी इस तरह की गड़बड़ी सामने आ चुकी है। जब किसी दूसरे के अकाउंट में रकम भेज दी ई है।


इस गांव में पिछले 9 सालों से नहीं पैदा हुआ कोई लड़का, लड़का होने पर मिलता है इनाम       यहां अस्थि कलश के लॉकर भी हुए हाउसफुल, मोक्ष कलश योजना से जाएंगे हरिद्वार       22 बच्चों की मां ने औनलाइन शेयर किया दर्द       यहां पति के मरते ही नर्क हो जाती है महिला की जिंदगी       हाथ लगा 11 हजार वर्ष पुराना अनमोल 'खजाना', अमेरिका में गोताखोरों की खुली किस्‍मत       कोरोना कहर के चलते यूजीसी ने लिया बड़ा फैसला, मई में होने वाली सभी ऑफलाइन परीक्षाओं पर लगाई रोक       पीजीटी के पदों के लिए परीक्षा की तारीखें घोषित       आईआईटी दिल्ली ने गेट काउंसलिंग की स्थगित, यहां पढ़ें पूरी जानकारी       एडमिशन टेस्ट के लिए 29 मई तक आवेदन का मौका, ऐसे करें अप्लाई       फॉरेन मेडिकल ग्रेजुएट एग्जामिनेशन रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख आज       एमपी यूनिवर्सिटी ने यूजी और पीजी सेमेस्टर फाइनल परीक्षाओं की तारीखें की घोषित       बिना विलंब शुल्क के आवेदन करने की आखिरी तारीख कल, फौरन करें अप्लाई       ऑफिस अटेंडेंट परीक्षा के नतीजे जल्द होंगे घोषित, ऐसे कर सकेंगे चेक       फाइनल और इंटरमीडिएट परीक्षाओं के लिए आवेदन की आखिरी तारीख आज, जल्द करें अप्लाई       यूपी बोर्ड हाई स्कूल और इंटर बोर्ड परीक्षाओं पर जल्द होगा फैसला, छात्र कर रहे हैं रद्द करने की मांग       इस दिन भेजी जाएगी पीएम किसान योजना की सातवीं किस्त, मिलेंगे 2000 रुपये       रंग-बिरंगी विरासत का शानदार नमूना है जौनपुर       जयपुर की शान है खूबसूरत नाहरगढ़ किला है, एक बार ज़रूर जाये       प्राकृतिक संसाधनो से भरपूर राज्य झारखण्ड जैसे झरने और कही...       मिलेगी शांति और सुकून भरी राहत के लिए एक बार ज़रूर जाये