पीएम मोदी ने लॉन्च की ‘हर घर नल योजना’, उत्तर प्रदेश के 3000 गांवों को मिलेगा फायदा

पीएम मोदी ने लॉन्च की ‘हर घर नल योजना’, उत्तर प्रदेश के 3000 गांवों को मिलेगा फायदा

पीएम नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश में ‘हर घर नल योजना’ को रविवार को लॉन्च किया. इस स्कीम को यूपी के मिर्जापुर और सोनभद्र क्षेत्र के 3,000 गांवों के लिए लॉन्च किया गया है. इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोनभद्र में थे, जबकि प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए योजना की लॉन्चिंग की. इस स्कीम के अनुसार 5,555.38 करोड़ रुपये खर्च होंगे और दो जिलों की 41 लाख आबादी को सीधे तौर पर लाभ मिलेगा. प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्कीम की लॉन्चिंग करते हुए कहा, ‘यह क्षेत्र संसाधनों से भरपूर है, लेकिन आजादी के बाद से अब तक नजरअंदाज किया गया है. क्षेत्र में कई नदियां होने के बाद भी यहां सूखे की समस्या रही है. हालांकि इस सरकार ने पानी की किल्लत को दूर करने के लिए कार्य किया है और इसी अनुसार आज ‘हर घर नल योजना’ की आरंभ की जा रही है.

सरकार के अनुसार इस स्कीम के अनुसार 2,995 गांवों को पाइपलाइन के जरिए पानी की सप्लाई की जाएगी. योगी आदित्यनाथ ने बोला कि आजादी के बाद से अब तक 398 गांवों को ही पाइप वाटर सप्लाई के अनुसार कवर किया गया था. अब जल जीवन मिशन के अनुसार हर घर जल योजना को लॉन्च किया गया है और इससे 2,995 गांवों के लोगों को पानी मिल सकेगा. इस स्कीम के अनुसार मिर्जापुर के 21,87,980 ग्रामीणों को जोड़ा जाएगा.

इसके अतिरिक्त सोनभद्र के 19,53,458 ग्रामीणों को इस स्कीम का फायदा मिलेगा. स्कीम के अनुसार झीलों और नदी के पानी का शुद्धिकरण किया जाएगा और फिर उसे सोनभद्र में रहने वाले परिवारों तक सप्लाई किया जाएगा. सोनभद्र में इस स्कीम पर 3212 करोड़ रुपये खर्च होने वाले हैं, जबकि मिर्जापुर जिले में इस स्कीम पर 2343 करोड़ रुपये की रकम खर्च की जाएगी. जल शक्ति मंत्रालय के इंजीनियरों के अनुसार इस स्कीम से दोनों जिलों के 41 लाख से अधिक लोगों को लाभ मिलेगा. अगले दो वर्षों में इस पर कार्य पूरा हो जाएगा.

जानें, क्या है स्कीम का मकसद: इस योजना के अनुसार 2024 तक सरकार देश के ग्रामीण इलाकों में हर एक घर में पीने के पानी का कनेक्‍शन देगी. इसके अनुसार घरों तक पानी पहुंचाने के लिए इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर तैयार किया जाएगा. इससे लोगों को घर पर ही पीने का साफ पानी मिलेगा और उन्‍हें कहीं दूर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी.

कितना है योजना का बजट: सरकार कह चुकी है कि वह इसमें अपनी पूरी ताकत लगा देगी. इस स्कीम पर साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये खर्च करने की तैयारी है. नरेन्द्र मोदी सरकार ने बजट 2020-2021 में इस राशि के आवंटन का ऐलान किया था.


इन किसान परिवारों को नहीं मिलेगा इस योजना का लाभ, जानें इसकी वजह

इन किसान परिवारों को नहीं मिलेगा इस योजना का लाभ, जानें इसकी वजह

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM-KISAN) किसानों के बीच बेहद लोकप्रिय स्कीम है। इस योजना की शुरुआत 2019 में हुई थी। इस स्कीम का लक्ष्य सभी जोत वाले किसानों को अतिरिक्त आय उपलब्ध कराना है। इस स्कीम के तहत सरकार लाभार्थी किसानों को हर वित्त वर्ष में 6,000 रुपये की नकद सहायता उपलब्ध कराती है। ऐसे में सरकार हर चार माह पर लाभार्थी किसानों के बैंक खातों में 2,000 रुपये की रकम सीधे ट्रांसफर करती है। हालांकि, सरकार द्वारा तय की गई कुछ शर्तों की वजह से कुछ किसान परिवार इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं। हालांकि, अब जोत भूमि के आकार की सीमा समाप्त हो गई है।

पीएम किसान योजना की जब शुरुआत हुई थी तो इसका लाभ केवल ऐसे किसानों को मिल सकता था, जिनके पास कुल दो हेक्टेयर तक की कृषि योग्य जमीन हो। इसका मतलब है कि यह स्कीम छोटे एवं सीमांत किसान परिवारों तक सीमित थी। हालांकि, जून 2019 में इस स्कीम से जुड़ी शर्तों में संशोधन किया गया है और कृषि योग्य भूमि के आकार से जुड़ी बाध्यता खत्म कर दी गई। इसका मतलब है कि अगर आपके पास ज्यादा जमीन है तो भी आपको इस योजना का लाभ मिलेगा।


हालांकि, इसके बावजूद कुछ ऐसे कृषक परिवार हैं, जिन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिल सकता हैः

संस्थागत किसान इस स्कीम का लाभ नहीं उठा सकते हैं। 
अगर कोई व्यक्ति किसी संवैधानिक पद पर आसीन है या रह चुका है और खेती-किसानी करता है तो उसे इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। 
राज्य या केंद्र सरकार या पब्लिक सेक्टर कंपनी या सरकारी स्वायत्त संगठनों के सेवारत या सेवानिवृत्त कर्मचारी (मल्टी टास्किंग या ग्रुप डी या चतुर्थवर्गीय कर्मचारियों को छोड़कर)
10,000 रुपये से ज्यादा की मासिक पेंशन प्राप्त करने वाले लोगों को इस योजना का लाभ नहीं मिल सकता है। हालांकि यह नियम भी मल्टी टास्किंग, ग्रुप डी या चतुर्थवर्गीय कर्मचारियों पर लागू नहीं होता है। 
पिछले असेसमेंट वर्ष में आयकर भरने वाले लोग इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं।
डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, चार्टर्ड अकाउंट और प्रोफेशनल संगठनों के साथ रजिस्टर्ड आर्किटेक्ट्स PM Kisan योजना के तहत लाभ उठाने के पात्र नहीं हैं।   


Rajasthan High Court Driver Answer Key 2021: ड्राइवर स्क्रीनिंग टेस्ट का 'आंसर की' hcraj.nic.in पर जारी       देखें क्या हुआ, जब बिल्ली शरारती बच्चे की बनी गार्जियन...       ट्रैफिक हवलदार बन हाथी ने व्यक्ति को ऐसे सिखाया सबक, देख हो जाएंगे हैरान       एडवेंचर से भरपूर ट्रैकिंग की इन जगहों पर एक बार जाएं जरूर       विकेंड पर कुदरती नज़ारों के बीच वक्त गुजारना चाहते हैं तो...       बंजी जंपिंग के हैं शौक़ीन, तो ये जगहें हैं परफेक्ट       मेघालय की सीमा में घुसे पड़ोसी देश के हाथी, हो रहा है खूब वायरल       हाथी ने गुस्सैल गैंडे को सिखाया ऐसा सबक, देख आप कहेंगे भई वाह!       लॉकडाउन में बंदर ने पार्क में किया कुछ ऐसा, देख आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे       डॉगी ने हवा में किया ऐसा करतब, देख आप हो जाएंगे हैरान       लॉकडाउन में लड़के ने की ऐसी एक्सरसाइज, देख आप भी कहेंगे कल मैं भी...       मिनी डॉक्टर ने अपने पिता का किया इलाज, देख आप अपनी हंसी रोक नहीं पाएंगे       जब वन अधिकारी ने प्यासे नाग को पिलाया पानी, देख आप कह उठेंगे OMG!       भैंसे को छेड़ना पड़ा महंगा, देख आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे       चूहे ने गाया फ्रेडी मरकरी का ऐसा गाना, देख आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे       भालू ने बचाई कौए की जान, देख आप कहेंगे ऊपरवाले की लीला अपरंपार       भैंस को लात मारना पड़ा महंगा, देख आप अपनी हंसी रोक नहीं पाएंगे       डॉगी ने अपने दिव्यांग मालिक को कराई सैर, देख आंखें छलक उठेंगी       लॉकडाउन में डॉगी ने लड़की के साथ खेला वॉलीबॉल, देख आप हो जाएंगे हैरान       जब सीमा पर दिखा पाकिस्तान के पत्रकार, वीडियो देख आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे