मिलेंगे 4000 रुपये: ऐसे उठाएं PM Kisan योजना का लाभ

मिलेंगे 4000 रुपये: ऐसे उठाएं PM Kisan योजना का लाभ

नई दिल्ली: किसानों के लिए पीएम किसान सम्मान निधि योजना एक लाभकारी योजना है। आज 31 मार्च इस योजना में रजिस्ट्रेशन की अन्तिम तारीख है। जो लोग अब तक पीएम किसान सम्मान निधि योजना में अपना रजिस्ट्रेशन नहीं करा पाए हैं उनके लिए आखिरी मौका है। ऐसे में अगर आप आज आवेदन कर देते हैं और आपका आवेदन स्वीकार हो जाता है तो आपको मार्च के महीने में मिलने वाली किस्त के 2000 रुपये भी मिलेंगे। इसके साथ ही अप्रैल महीने में भी आपको 2000 रुपये का फायदा होगा। इस तरह से उन्हें 4000 रुपये एक साथ मिल जाएंगे।

नए किसानों को दो किस्तों की रकम एक साथ

बता दें केंद्र सरकार साल में तीन बार इस स्कीम के तहत किसानों के खाते में 2000-2000 रुपये ट्रांसफर करती है। अगर कोई नया किसान इससे जुड़ना चाहता है और इस योजना में आवेदन करता है तो सरकार लगातार दो किस्तों की रकम उसे एक साथ दे सकती है। इस स्कीम के जरिए मोदी सरकार किसानों के खाते में सालाना 6000 रुपये दो-दो हजार की तीन किस्तों में देती है। बता दें कि योजना शुरू होने से लेकर अब तक 7 किस्त किसानों के खाते में भेजी जा चुकी है और अब जल्द ही 8वीं किस्त के पैसे किसानों के खाते में भेजे जाएंगे।


इन राज्यों के किसानों के लिए बड़ी खबर

अगर आप जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir), लद्दाख (Ladakh), मेघालय (Meghalaya) और असम (Assam) के किसान हैं और पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) की 8वीं किश्त का लाभ लेना चाहते हैं तो आपके लिए बड़ी खबर है। क्योंकि सरकार इन राज्यों के किसानों का आधार वेरिफिकेशन (Aadhaar verification) करने जा रही है। वेरिफिकेशन के दौरान जिन किसानों (farmers) के आधार में गड़बड़ी पाई जाएगी। उन्हें पीएम किसान सम्मान निधि की 8वीं किश्त नहीं दी जाएगी। साथ ही ऐसे किसानों को आगे भी इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।

इन राज्यों में भी होगा वेरिफिकेशन
जानकारी के मुताबिक इन राज्यों के किसानों का आधार वेरिफिकेशन के बाद सरकार मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh), छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh), यूपी (UP) और बिहार (Bihar) सहित अन्य राज्यों के किसानों का आधार वेरिफिकेशन करेगी। इस दौरान गड़बड़ी मिलने पर इन किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) की राशि का लाभ नहीं दिया जाएगा।

तुरंत ठीक कराएं गड़बड़ी
आपका आधार कार्ड किसी भी योजना का लाभ उठाने के लिए महत्वपूर्ण है ऐसे में किसी प्रकार की गड़बड़ी है तो 31 मार्च तक ठीक करा लें, अन्यथा आपकी भी 8वीं किश्त रुक सकती है। आधार कार्ड में हुई गड़बड़ी को आप ऑनलाइन (Aadhaar card online) भी सुधार सकते हैं। तो आइए यहां जानते हैं कि कैसे आधार कार्ड (Aadhaar card) में हुई गड़बड़ी को ठीक करें

-किसान अपने आधार कार्ड की फोटो कॉपी लेकर बैंक शाखा में जाना होगा।

- ध्यान रखें आप उसी बैंक और ब्रांच में जाएं, जिसका अकाउंट आपने योजना में दिया है।

-अधिकारी से बोलें कि आपको बैंक अकाउंट आधार से लिंक करवाना है। -वह कर्मचारी अपने खाते को आधार से लिंक कर देगा। इसके लिए आपसे कोई चार्ज भी नहीं लिया जाएगा।

ऑनलाइन आधार कार्ड को ऐसे करवाएं ऐड
-सबसे पहले इसके लिए जिस बैंक में आपका अकाउंट है उसकी ऑफीशियल वेबसाइट पर जाएं।

-अगर आपका नेट बैंकिंग एक्टिव है तो अपना नेट बैंकिंग लॉग इन करें। -इसके बाद इनफार्मेशन एंड सर्विस का विकल्प में जाएं। -उसमे आपको अपडेट आधार नंबर का विकल्प दिखाई देगा। इसे क्लिक करें।

-लिंक करते वक्त ध्यान से 12 अंकों का आधार नंबर टाइप करें और सबमिट कर दें।

-जब आपका आधार आपके बैंक नंबर से लिंक हो जाएगा तब मोबाइल नंबर पर मैसेज आएगा।


इस तरह लिस्ट में चेक करें नाम

लिस्ट चेक करने के लिए https://pmkisan.gov.in/ पोर्टल पर लॉगइन करें Payment Success टैब के नीचे भारत का नक्शा दिखेगा यहां Dashboard लिखा होगा, इसे क्लिक करें इस पर क्लिक करते ही एक नया पेज खुलेगा यह Village Dashboard का पेज है, यहां आप अपने गांव की पूरी डिटेल ले सकते हैं सबसे पहले स्टेट स्लेक्ट करें, इसके बाद अपना जिला, फिर तहसील और फिर अपना गांव शो बटन पर क्लिक करें इसके बाद आप जिसके बारे में जानना चाहते हैं, उस बटन पर क्लिक करें, पूरी डिटेल आपके सामने होगी Village Dashboard के नीचे चार बटन मिलेंगे, अगर आप को यह जानना है कि कितने किसानों का डेटा पहुंचा है तो Data Received पर क्लिक करें, जिनका पेंडिंग है, वो दूसरे वाले बटन पर क्लिक करें,

मंत्रालय से संपर्क करने के लिए हेल्पलाइन
आपकी मदद के लिए एक है हेल्पलाइन नंबर। जिसके जरिए देश के किसी भी हिस्से का किसान सीधे कृषि मंत्रालय से संपर्क कर सकता है। पीएम किसान टोल फ्री नंबर: 18001155266 पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर:155261 पीएम किसान लैंडलाइन नंबर्स: 011—23381092, 23382401 पीएम किसान की नई हेल्पलाइन: 011-24300606 पीएम किसान की एक और हेल्पलाइन है: 0120-6025109


किसानों के लिए खुशखबरी: सरकार की बड़ी योजना, अब मिलेगी सबको राहत

किसानों के लिए खुशखबरी: सरकार की बड़ी योजना, अब मिलेगी सबको राहत

कृषि कानूनों का लेकर जारी किसानों की नाराजगी के बीच उनके लिए खुशखबरी है। केंद्र सरकार की योजनाओं के तहत 12 लाख किसानों को लाभ मिलने वाला है। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभर्थियों को किसान क्रेडिट कार्ड देने जा रही है। ये लाभ खासकर यूपी के किसानों के लिए है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के 12 लाख लाभर्थियों को KCC मिलने वाला
दरअसल, उत्तर प्रदेश के निवासी किसान, जो कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के पात्र हैं, को योगी सरकार किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) जारी करने जा रही है। इसके लिए लाभार्थी आसानी से आवेदन कर सकते हैं। इस योजना से 12 लाख लोगों को फायदा होगा। यूपी सरकार और केंद्र सरकार के बीच इस बाबत बातचीत चल रही है।

मौजूदा समय पर यूपी में प्रधानमंत्री-किसान सम्मान निधि योजना के कुल 2.43 करोड़ लाभार्थी हैं। इनमें से 1.53 करोड़ किसानों ने केसीसी बनवा लिया है, जबकि, करीब 90 लाख किसानों ने केसीसी के लिए आवेदन भी नहीं किया है।

किसान क्रेडिट कार्ड क्या है?
लाभार्थियों के लिए ये जानना जरुरी है कि किसान क्रेडिट कार्ड होता क्या है, और इससे आपको क्या फायदा मिलेगा। बैंक क्रेडिट कार्ड की तरह ही किसान क्रेडिट कार्ड होता है, जो किसानों को खेती के लिए खाद, बीज, कीटनाशक आदि खरीदने के लिए आसानी से लोन देता है। ख़ास बात ये होती है कि इस कार्ड से लोन बहुत सस्ता मिलता है। 2 से 4 फीसदी की दर से ही ब्याज देना होता है। हालंकि इसके इस्तेमाल को लेकर एक शर्त ये होती है कि समय पर लोन का पुनर्भुगतान कर दिया जाए।

ये भी जानकारी देनी होती है कि किसी अन्य बैंक या शाखा से कोई और किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बनवाया है।

फॉर्म भरने के लिए आवेदक को आईडी प्रूफ जैसे-वोटर कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस चाहिए होता है। अड्रेस प्रूफ भी इनका इस्तेमाल होता है।

किसान क्रेडिट कार्ड को आवेदक किसी भी को-ऑपरेटिव बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक(RRB) से हासिल कर सकते हैं।

इसके अलावा SBI, BOI और IDBI बैंक से भी KCC लिया जा सकता है।

किसान क्रेडिट कार्ड मिलेगा किसे?
KCC केवल किसानी और खेती करने वालो को ही नहीं मिलता, बल्कि पशुपालन और मछलीपालन करने वालों को भी 2 लाख रुपये तक का कर्ज लेने की सहुलियत देता है। वह जमीनी खेती करता हो या न करता हो, लेकिन खेती-किसानी, मछलीपालन और पशुपालन से जुड़ा कोई भी व्यक्ति इसका लाभ ले सकता है।

इसके लिए उम्र भी निर्धारित है। कम से कम 18 साल और अधिकतम 75 साल के लोग आवेदन कर सकते हैं। अगर किसान की उम्र 60 साल से अधिक है तो एक को-अप्लीकेंट भी लगेगा, जिसकी उम्र 60 से कम हो।