प्रेग्नेंसी में ट्रैवल करते समय इन बातों का रखें खास ध्यान

प्रेग्नेंसी में ट्रैवल करते समय इन बातों का रखें खास ध्यान

प्रेग्नेंसी में ट्रैवलिंग बेशक एक बड़ा रिस्क होता है लेकिन कुछ तैयारियों और सूझ-बूझ के साथ आप बेफ्रिक होकर सफर को एन्जॉय कर सकती हैं। कुछ महिलाएं 1-2 घंटे के सफर को आसान मानती हैं, बल्कि ऐसा नहीं है। फ्लाइट से सफर 1 घंटे का हो या 8 घंटे का, बिना तैयारी के दोनों ही बोझिल बन सकती है। तो जानते हैं प्रेग्नेंसी में ट्रैवलिंग के लिए जरूरी टिप्स।   

डॉक्टर्स की परमिशन

प्रेग्नेंसी में ट्रैवलिंग से पहले डॉक्टर से सलाह-मशविरा जरूर कर लें जिससे वो किसी तरह की प्रॉब्लम होने पर आपकी हेल्प कर सकें। क्योंकि प्रेग्नेंसी के शुरुआत में ट्रैवलिंग के दौरान मिसकैरिज का तो वहीं 8 या 9वें महीने में लेबर पेन का खतरा होता है। इसी को ध्यान में रखते हुए ज्यादातर एयरलाइन्स ने प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए कुछ रूल्स एंड रेग्युलेशन बना रखे हैं। इसलिए इन्हें जान लेना जरूरी है जिससे बुकिंग के बाद किसी तरह की निराशा न हो। इसके साथ ही ट्रैवलिंग से पहले आपको डॉक्टर अप्रूव अपना मेडिकल सर्टिफिकेट भी दिखाना पड़ता है तभी आपको ट्रैवल की परमिशन मिलती है।

ट्रैवलिंग से पहले की तैयारियां

प्रेग्नेंसी में ट्रैवलिंग के दौरान बहुत टाइट कपड़े पहनना अवॉयड करें। ढीले-ढाले आउटफिट्स सफर में बहुत ही कम्फर्टेबल होते हैं। कपड़ों के साथ ही आपके फुटवेयर्स पर भी ध्यान दें। फ्लैट्स इसके लिए बेस्ट रहेंगे। वर्सेटाइल आउटफिट्स भी आप ऐसे में ट्राय कर सकती हैं जिसे आप जरूरत के हिसाब से लूज़ कर सके। अगर आप बहुत ही लंबे टूर पर जा रही हैं तो दवाईयों को साथ रखना न भूलें।

कम्फर्टेबल सीट चुनें 

प्रेग्नेंसी में ट्रैवल करने वाली हैं तो विंडो सीट का मोह छोड़ दें ऐसी सीट चुनें जो वॉशरूम के पास हो। जिससे आपके साथ-साथ दूसरों को भी प्रॉब्लम न हो। इसके साथ ही सबसे पीछे की सीट में लैग स्पेस भी ज्यादा होता है मतलब आप आराम से सफर में पैर फैलाकर बैठ सकती हैं।

हमेशा कैरी करें खाने-पीने की चीज़ें 

प्रेग्नेंसी में जब भी बाहर निकलें अपने साथ खाने-पीने की हेल्दी चीज़ें जरूर कैरी करें। फ्लाइट में मिलने वाला खाना स्वाद में भले ही अच्छा हो लेकिन न्यूट्रिशन के मामले में इनकी कोई गारंटी नहीं होती इसलिए घर का बना हुआ खाना खाएं जिससे ट्रैवलिंग के दौरान और डेस्टिनेशन पर पहुंचकर भी किसी तरह की कोई दिक्कत न हो। 

सफर के दौरान खुद को रखें इंगेज

सफर में खुद को जितना इंगेज रखेंगी उतना ही कम्फर्टेबल रहेंगी। कहने का मतलब है कि म्यूज़िक, मूवी और किताबें इंगेज़ रखने के साथ ही एंटरटेनमेंट भी करती हैं जिससे सिरदर्द, वॉमिटिंग और जी मिचलाने की समस्या कम होती है।   


17 फरवरी से पर्यटक कर सकेंगे स्पीति घाटी की सैर, जानें

17 फरवरी से पर्यटक कर सकेंगे स्पीति घाटी की सैर, जानें

देवों की भूमि उत्तराखंड से पर्यटकों के लिए बड़ी खुशखबरी आ रही है। खबरों की मानें तो लंबे समय के बाद 17 फरवरी से स्पीति घाटी को पर्यटकों के लिए खोल दिया जाएगा। इस बात की पुष्टि  The Spiti Tourism Society की तरफ से जारी आधिकारिक बयान से होती है, जिसमें कहा गया है कि पंचायत, ट्रेवल एजेंट्स, महिला मंडलस, होटल के ऑनर और समाजिक नेताओं ने संयुक्त रूप से पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए स्पीति घाटी को खोलने का निर्णय लिया है। The Spiti Tourism Society की तरफ से जारी बयान में यह भी कहा गया है कि पिछले एक साल से घाटी पर्यटकों के बिना सूना है। कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या में कमी और सरकार द्वारा टीकाकरण अभियान शुरू करने के बाद घाटी एकबार फिर से पर्यटकों के स्वागत के लिए तैयार है। हालांकि, कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए गाइडलाइंस तैयार किया गया है। पर्यटकों को नियमों का पालन करना होगा। आइए गाइडलाइंस जानते हैं-


-पर्यटकों का किब्बर और किब्बर वाइल्डलाइफ हैबिटेट में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। गांव वालों ने कोरोना काल में पर्यटकों को गांव में आने और ठहरने की अनुमति नहीं दी है।

-घाटी में आने वाले सभी पर्यटकों की RAT/RT-PCR टेस्ट अनिवार्य है। यह टेस्ट अधिकृत लैब अथवा हॉस्पिटल की वैध मानी जाएगी। यह जिम्मेदारी टूर ऑपरेटर्स की होगी कि RAT/RT-PCR टेस्ट वाले पर्यटकों को ही घाटी पर लाएं।

- घाटी पहुंचने से 72 से 96 घंटे पहले RAT/RT-PCR टेस्ट ही मान्य होगा।

 -स्पीति घाटी में आने वाले अकेले पर्यटक, चालक के साथ आने वाले पर्यटकों को सरकारी अस्पताल में रैपिड टेस्ट के लिए रिपोर्ट करना पड़ेगा।

-होटल्स और घर पर ठहरने देने वाले लोगों को यह सुनिश्चित करना होगा कि पर्यटक पूरी तरह से स्वस्थ हैं और पर्यटक में फ्लू आदि के लक्षण नहीं पाए गए हैं। इसके बाद ही प्रवेश की अनुमति दी जाए।

- किसी भी कीमत पर समाजिक दूरी का हर समय पालन करना होगा। पर्यटकों को ठहरने वाले स्थान से बाहर निकलने पर मास्क पहनना अनिवार्य है।

-पर्यटकों को खुद की और स्थानीय लोगों की सेहत और सुरक्षा का ख्याल रखना पड़ेगा। 


कोरोना काल में किसानों की खुशहाली और उन्नति के लिए योगी सरकार ने किया काम       इग्नू ने जनवरी सेशन के लिए री-रजिस्ट्रेशन की तारीख फिर आगे बढ़ाई       रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया आज से शुरू, 11 अप्रैल को होगी परीक्षा       जुलाई सेशन के लिए इंस्टीट्यूट ऑफ नेशनल इंपोर्टेंस कंबाइंड एंट्रेंस टेस्ट का रजिस्ट्रेशन शुरू       राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा के लिए हॉल टिकट जारी, करें डाउनलोड       सीबीएसई बोर्ड ने 12वीं अकाउंट्स के पेपर से जुड़ा जारी किया ये जरूरी नोटिफिकेशन       AIMA MAT 2021: पेपर बेस्ड टेस्ट के लिए रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख बढ़ी       NIOS: तीसरी, पांचवीं और आठवीं कक्षाओं में पढ़ाई जाएगी प्राचीन भारतीय ज्ञान परंपरा       टेक्निशियन लिखित परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी, उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन जल्द घोषित करेगा एग्जाम डेट       इग्नू ने जनवरी सेशन के लिए री-रजिस्ट्रेशन की तारीख फिर आगे बढ़ाई, करें चेक       ट्रेड्समैन कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी, इस डायरेक्ट लिंक से करें डाउनलोड       ACF और RFO के पदों के लिए इंटरव्यू कॉल लेटर व शेड्यूल uppsc.up.nic.in पर जारी, करें चेक       सीबीएसई बोर्ड की प्रैक्टिकल परीक्षाएं शुरू       6वीं, 9वीं और 11वीं कक्षाओं में दाखिले के लिए आवेदन शुरू, विद्यालयीय प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन 31 मार्च तक       13 मार्च से आयोजित होने वाली असिस्टेंट इंजीनियर परीक्षा स्थगित       जेईई मेन मार्च सत्र के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू, आवेदन करते वक्त ध्यान में रखें ये नियम       गेट परीक्षा ‘आंसर की’ करेक्शन के लिए विंडो ओपेन, 4 मार्च तक ऑनलाइन करायें आपत्ति दर्ज       कंपनी सचिव जून परीक्षा के लिए आवेदन शुरू, फाउंडेशन, एग्जीक्यूटिव और प्रोफेशनल के लिए रजिस्ट्रेशन       आवेदन का आज आखिरी दिन, दिसंबर 2020 की यूजीसी नेट परीक्षा मई में       एनटीए ने फेज 1 परीक्षा के लिए ‘आंसर की’ जारी किये, ऐसे करें डाउनलोड