लाल ईंटों से बना आगरा किला है मुगल कालीन वास्तुकला का नायाब नमूना

लाल ईंटों से बना आगरा किला है मुगल कालीन वास्तुकला का नायाब नमूना

आगरा किले की खूबसूरती को देखते हुए यूनेस्को ने इसे वर्ल्ड हेरिटेज की लिस्ट में शामिल किया है। यह किला ताजमहल से महज 2.5 किमी की दूरी पर स्थित है इसलिए यहां आने वाले पर्यटक ताजमहल के साथ इसका दीदार करने भी जरूर करने आते हैं। मुगल बादशाह अकबर द्वारा बनवाए गए इस किले में क्या है खास जानेंगे इसके बारे में।

आगरा किले का इतिहास

आगरा का किला इसलिए भी खास है क्योंकि यहां बाबर, हुमांयु, अकबर, जहांगीर, शाहजहां और औरंगजेब जैसे मुगलों ने शासन किया है। राज्य का खज़ाना भी यहीं रखा जाता था। सिकंदर लोदी दिल्ली का पहला सुल्तान था जिसने अपनी आगरा यात्रा के दौरान इसकी मरम्मत कराई और 1506 ईस्वी तक इसे अपनी राजधानी बनाया। 1517 में उसकी मृत्यु के बाद उसके पुत्र इब्राहिम लोदी ने 9 सालों तक शासन किया। जिस दौरान उसने कई जगहें, मस्जिदें और कुएं बनवाएं।

पानीपत के बाद यहां मुगलों ने शासन किया। उनके खजाने में कोहिनूर हीरा भी शामिल था। 1530 में इस किले में हुमायुं का राजतिलक हुआ। जहां एक युद्ध में वो शेहशाह सूरी से हार गया जिसके बाद किले पर उसका कब्जा हो गया।

अकबर ने 1558 में इसे अपनी राजधानी बनाया और पूरे 8 साल तकरीबन 4000 कारीगरों ने मिलकर इस किले को तैयार किया। 1573 में ये पूरा बनकर तैयार हुआ। यहां जोधाबाई महल भी है।

आगरा फोर्ट की बनावट

आगरा किले को लाल किला भी कहा जाता है क्योंकि इसकी बनावट काफी हद तक दिल्ली के लाल किले में मिलती-जुलती है। इसे बनाने में भी लाल रंग के बलुआ पत्थरों और सफेद संगमरमर का इस्तेमाल किया गया है। किले का आकार अर्ध चंद्राकार है। किले के तीनों तरफ सड़क बनी हुई है। यमुना ते तरफ वाले सड़क मार्ग को यमुना किनारा मार्ग कहते हैं जो ताजमहल के पश्चिमी दरवाजे तक पहुंचाता है।

किले के चारों कोने पर चार द्वार हैं। जिनमें से मुख्य द्वार दिल्ली द्वार है जो बहुत ही भव्य तरीके से बनाया गया है। जिसके अंदर भी एक द्वारा है जो हाथी पोल कहा जाता है। दूसरा अकबर दरवाजा है जो किले की खाई के पार बना हुआ है।

आगरा फोर्ट में हिंदू व इस्लामी कला का नायाब नमूना देखने को मिलता है। ज्यामितीय आलेखों, आयतों के अलावा इनमें पशु-पक्षियों की आकृतियां भी देखी जा सकती हैं।

किले के अंदर की खूबसूरत जगहें

शीश महल

शीश महल यानि शीशों से सजा हुआ महल। दीवारों पर छोटे-छोटे शीशे लगे हुए हैं जो मुगलों के समय में वस्त्र बदलने का कमरा हुआ करता था।

अकबर महल

अकबर का मशहूर महल आज भी इसमें है। जहां अकबर में अपनी अंतिम सांसें ली थी। पूरा महल लाल रंग के पत्थरों से बना हुआ है।

दीवान-ए-आम

ये शाहजहां द्वारा बनाया गया हॉल है। पहले इसे लाल रंग के पत्थर से बनाया गया था लेकिन बाद में यूनिक लुक देने के लिए सफेद संगमरमर से बनाया गया।

दीवान-ए-खास

यहां जनता दरबार लगता था। जहांगीर का सिंहासन इस जगह को बनाता था खास।

खास महल

सफेद संगमरमर से बना हुआ यह महल रंगसाजी की बेमिसाल निशानी है।

नगीना मस्ज़िद

खासतौर से महिलाओं के लिए बनाया गया मस्ज़िद है जिसके अंदर महिला मीना बाजार था जिसमें केवल महिलाएं ही सामान बेचती थी।

मुसम्मान बुर्ज

एक ऐसा टॉवर है जो अष्टकोणीय है और यहां से ताजमहल बहुत ही खूबसूरत और साफ दिखाई देता है।

कैसे पहुंचे

आगरा हवाई, सड़क और रेल मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है। यहां पहुंचना बहुत ही आसान है।


17 फरवरी से पर्यटक कर सकेंगे स्पीति घाटी की सैर, जानें

17 फरवरी से पर्यटक कर सकेंगे स्पीति घाटी की सैर, जानें

देवों की भूमि उत्तराखंड से पर्यटकों के लिए बड़ी खुशखबरी आ रही है। खबरों की मानें तो लंबे समय के बाद 17 फरवरी से स्पीति घाटी को पर्यटकों के लिए खोल दिया जाएगा। इस बात की पुष्टि  The Spiti Tourism Society की तरफ से जारी आधिकारिक बयान से होती है, जिसमें कहा गया है कि पंचायत, ट्रेवल एजेंट्स, महिला मंडलस, होटल के ऑनर और समाजिक नेताओं ने संयुक्त रूप से पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए स्पीति घाटी को खोलने का निर्णय लिया है। The Spiti Tourism Society की तरफ से जारी बयान में यह भी कहा गया है कि पिछले एक साल से घाटी पर्यटकों के बिना सूना है। कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या में कमी और सरकार द्वारा टीकाकरण अभियान शुरू करने के बाद घाटी एकबार फिर से पर्यटकों के स्वागत के लिए तैयार है। हालांकि, कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए गाइडलाइंस तैयार किया गया है। पर्यटकों को नियमों का पालन करना होगा। आइए गाइडलाइंस जानते हैं-


-पर्यटकों का किब्बर और किब्बर वाइल्डलाइफ हैबिटेट में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। गांव वालों ने कोरोना काल में पर्यटकों को गांव में आने और ठहरने की अनुमति नहीं दी है।

-घाटी में आने वाले सभी पर्यटकों की RAT/RT-PCR टेस्ट अनिवार्य है। यह टेस्ट अधिकृत लैब अथवा हॉस्पिटल की वैध मानी जाएगी। यह जिम्मेदारी टूर ऑपरेटर्स की होगी कि RAT/RT-PCR टेस्ट वाले पर्यटकों को ही घाटी पर लाएं।

- घाटी पहुंचने से 72 से 96 घंटे पहले RAT/RT-PCR टेस्ट ही मान्य होगा।

 -स्पीति घाटी में आने वाले अकेले पर्यटक, चालक के साथ आने वाले पर्यटकों को सरकारी अस्पताल में रैपिड टेस्ट के लिए रिपोर्ट करना पड़ेगा।

-होटल्स और घर पर ठहरने देने वाले लोगों को यह सुनिश्चित करना होगा कि पर्यटक पूरी तरह से स्वस्थ हैं और पर्यटक में फ्लू आदि के लक्षण नहीं पाए गए हैं। इसके बाद ही प्रवेश की अनुमति दी जाए।

- किसी भी कीमत पर समाजिक दूरी का हर समय पालन करना होगा। पर्यटकों को ठहरने वाले स्थान से बाहर निकलने पर मास्क पहनना अनिवार्य है।

-पर्यटकों को खुद की और स्थानीय लोगों की सेहत और सुरक्षा का ख्याल रखना पड़ेगा। 


JKBOSE 10th Class Result 2020: कश्मीर जोन 10वीं के नतीजे घोषित, 75 फीसदी सफल घोषित       BSSC 1st Inter Level Main Exam Result 2021: प्रथम इंटर स्तरीय मुख्य परीक्षा के नतीजे bssc.bih.nic.in पर जारी       CTET Result 2021: नतीजे घोषित, 30 लाख में से 6.5 लाख उम्मीदवार सफल       HPPSC HPJS Mains Result 2021: सिविल जज पदों के लिए न्यायिक सेवा मुख्य परीक्षा के परिणाम घोषित       CTET January 2021 Result: केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा का परिणाम जारी       SSC Delhi Police SI Result: एसएससी सब इंस्पेक्टर पेपर 1 का परिणाम घोषित       DDA Patwari Admit Card 2021: डीडीए पटवारी स्टेज 2 परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र जारी       UPSC Geo Scientist Interview Schedule 2020: जियो-साइंटिस्ट पोस्ट के लिए इंटरव्यू शेड्यूल जारी       Bihar Police Lady Constable Joining Notice 2021: लेडी कॉन्स्टेबल के 454 पदों के लिए जॉइनिंग से संबंधित नोटिस जारी       UKPSC ACF Mains Admit Card 2021: सहायक वन संरक्षक मुख्य परीक्षा के एडमिट कार्ड जारी       NABARD Grade A Cut Off 2021: असिस्टेंट मैनेजर ग्रेड 'ए' कटऑफ मार्क्स nabard.org पर जारी       JPSC Exam Calendar 2021: झारखंड लोक सेवा आयोग ने विभिन्न परीक्षाओं के लिए शेड्यूल किया जारी       CTET January 2021 Mark Sheet: डिजिलॉकर पर जारी होंगे मार्कशीट       RBI Grade B Admit Card 2021: ग्रेड बी ऑफिसर फेज 1 परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र जारी, ऐसे करें डाउनलोड       CBSE Class 10 Social Science Syllabus: 10वीं सोशल साइंस का सिलेबस कम नहीं करेगा सीबीएसई बोर्ड       IGNOU TEE December 2020 Result: इग्नू दिसंबर टर्म-ईंड की आयोजित परीक्षाओं के नतीजे घोषित       JEE Main 2021: पहले चरण में 6.6 लाख उम्मीदवार दे रहे हैं जेईई मेन परीक्षा, 26 फरवरी तक चलेगा फेज 1       Assam SLET answer key 2021: असम स्टेट एलिजिबिलिटी टेस्ट आंसर-की जारी       BPSC MDO Exam 2021: खनिज विकास पदाधिकारी परीक्षा 27 फरवरी से       जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा आज, ऐसा होगा क्वेशचन पेपर