अतीत में लिपटा एक आधुनिक शहर

अतीत में लिपटा एक आधुनिक शहर

बर्लिन के टेगेल हवाई अड्डे पर विमान के उतरने भर की देर थी कि कुछ ही देर में एयरोब्रिज उसके सीने से आ जुड़ा और चंद मिनटों में ही हम भी बाहर थे। मगर बाहर तो एयरोब्रिज से निकले थे। अब हैरानगी इसे लेकर थी कि मुश्किल से तीस मीटर चलने के बाद ही हम हवाईअड्डे से भी बाहर पहुंच चुके थे! इससे पहले कि कुछ समझ में आता, हमारी टैक्सी भी सामने थी। मुस्तफा ने मेरे हाथ से लगेज लिया, डिक्की में लादा और हमारी मंजिल की तरफ लेकर चल पड़ा। करीब डेढ़ सौ किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ती मर्सिडीज की सवारी करते हुए हमारा दिमाग इसी सवाल से गुत्थमगुत्था था कि दुनिया के आधुनिकतम कहलाने वाले शहरों में शुमार बर्लिन का एयरपोर्ट इतना छुटका कैसे हो सकता है? मुस्तफा ने इस राज पर से पर्दा उठाते हुए बताया कि टेगेल की बनावट षट्कोणीय है, जिसकी वजह से कई बार विमान और सड़क की दूरी मामूली ही बचती है। सुविधा के मामले में इसका कोई तोड़ नहीं हो सकता। यह तो पहली ही शाम थी, अभी हमें ऐसे ही और भी कई आश्चर्यों से रूबरू होना था। बर्लिन के क्रिसमस बाजारों से मिलने इस तरफ चले आए थे। सुना था कि यूरोप में क्रिसमस की धड़कनें देखनी हों, तो जर्मनी एक बार जरूर आना चाहिए।

बर्लिन का शानदार और खूबसूरत ठिकाना   

पॉल-रॉबेसन स्ट्राबे पर हमारा एयरबीएनबी बुक था और यहां तक पहुंचने में करीब 20 मिनट लगे। हवाईअड्डे से चले थे, तो आसमान पर बादलों के साए जमा थे। जब यहां पहुंचे तो बूंदाबांदी शुरू हो चुकी थी। एक तो रात का वक्त, अनजाना शहर और उस पर बारिश के उन छींटों में भीगते हुए सामने इंडियन रेस्टोरेंट से अपने अड्डे की चाबी भी लेनी थी। इस बीच, मुस्तफा को हम विदा कर चुके थे। चौथी मंजिल पर हमारा अपार्टमेंट था, जिस तक पहुंचने की लिफ्ट का वजूद हमें कहीं नहीं दिखाई दिया। थकान खास नहीं थी और यूरोप में घुमक्कड़ी की आदतों के चलते लगेज भी ज्यादा नहीं था, तो भी सीढिय़ों पर सांस फुलाते हुए चढऩा अखरा था। बहरहाल, अपना घर देखकर मन झूम उठा। दो बेडरूम, एक बड़ा-सा लिविंग रूम, किचन, बॉलकनी और इन सबको आपस में जोडऩे वाला गलियारा मस्त था। यह दरअसल, एक आर्टिस्ट कपल का घर था, जो वेकेशन पर जाते हुए इसे एयरबीएनबी पर लिस्ट कर गए थे। होटल या हॉस्टल में टिकने की बजाय हमने इस वैकल्पिक ठौर को चुना था, ताकि कुछ तो अलग अनुभव हासिल हो। किचन में पास्ता, नूडल्स, रेडी टु कुक बिरयानी, करी के अलावा कितनी ही किस्मों की हर्बल चाय, कॉफी, अगरबत्तियां भी थीं, जिन पर मेड इन इंडिया या मेड इन श्रीलंका की स्टीकर चिपके थे।

शुरू हुई घुमक्कड़ी

अगले दिन नजदीकी ट्रेन स्टेशन बानहोमर स्ट्रासे में घुसने से पहले ही सामना हुआ था बर्लिन की दीवार के उस छोटे से हिस्से से, जिसे यहां सहेजकर रखा गया है। यह वही स्टेशन था, जहां से कितने ही यहूदी, जिप्सी, समलैंगिक, गरीब, रोगी, विकलांग हिटलरी कहर से जान बचाकर भागे थे। स्टेशन के बाहर इसी अतीत को दिखाने वाली एक छोटी-सी प्रदर्शनी लगी है। कुछ देर यहीं ठिठकी रह गई हूं, मेरे आसपास कुछ और सैलानी भी हैं। हर कोई गुम है, चुप है और प्रदर्शनी देख लेने के बाद चुपचाप अपनी राह हो लेता है। उस निष्ठुर दौर की त्रासदी के बारे में पढ़कर कोई किसी से कुछ कहना नहीं चाहता। जैसे मुंह पर ताले जड़ दिए हों। यूरोप के देशों में दीवारों पर इस तरह कितने ही कलाकारों की बतरस दर्ज हैं। समझ में आए या नहीं, इतना तो मालूम है कि ग्रैफिटी के जरिए हालात पर विरोध दर्ज कराते हैं कलाकार।

पब्लिक ट्रांसपोर्ट का जाल 

बर्लिन में बसों के अलावा लंबी और कम दूरी का विशाल मेट्रो नेटवर्क है। मेट्रो एस-बान और यू-बान कहलाती है। इनके अलावा, कई रूटों पर ट्राम भी सरपट दौड़ती हैं। प्राइवेट कैब और ऊबर तो हैं ही। 


विकेंड पर कुदरती नज़ारों के बीच वक्त गुजारना चाहते हैं तो...

विकेंड पर कुदरती नज़ारों के बीच वक्त गुजारना चाहते हैं तो...

कुदरती नज़ारों का लुत्फ उठाना चाहते हैं तो हिमाचल में घूमने के लिए बेहद नजारें मौजूद है। हिमाचल की पब्बर वैली कुदरती नजारों का अद्धभुत संगम है। आप ऑफबीट डेस्टिनेशन जाना चाहते हैं तो पब्बर वैली आपके लिए बेस्ट डेस्टिनेशन है। इस वैली में प्राकृति के हज़ारों रंग बिखरे पड़े हैं। यहां कई तरह की एडवेंचर्स एक्टिविटी करने का भी मौका मिलता है। यहां मौजूद देवदार और ओक के हरे भरे जंगल, खूबसूरत नदियों और झरनों का नज़ारा इस जगह की खूबसूरती में चार चांद लगाता है। प्राकृतिक सौन्दर्य के अलावा यहां रिजर्व फॉरेस्ट और नेचर पार्क भी है जहां आपको नेचर के तमाम रंग नज़र आएंगे। तो चलिए हम आपको पब्बर घाटी के कुछ बेहतरीन ट्रेक्स के बारे में बताते हैं जहां आप विकेंड पर घूमने की प्लानिंग बना सकते हैं।

गडसरी सरू ट्रेक:

गडसरी सरू ट्रेक पूरे देश में सबसे दुर्लभ ट्रेक में से एक है, इस ट्रेक मार्ग पर सबसे अनुभवी ट्रेकर्स द्वारा भी पहुँचा जा सकता है। ट्रेक मार्ग गहरे जंगलों और विचित्र गडसरी गाँव से गुज़रता है और अंत में सुंदर सरयू झील पर समाप्त होता है जो 11,865 फीट की ऊँचाई पर है। ट्रेक को पूरा करने में लगभग पूरा दिन लगता है जो कि बेहद चुनौतीपूर्ण है।


रिजर्व फॉरेस्ट और नेचर पार्क:

पब्बर वैली की प्राकृतिक खूबसूरती के अलावा यहां रिजर्व फॉरेस्ट और नेचर पार्क देखकर भी बेहद सुखद अनुभव करेंगे। यह स्थान आपको कुदरती रंगों से रूह-बा-रूह कराएंगें।

हरियाली के साथ देखें बर्फ के पहाड़ भी

सर्द मौसम में आप बर्फ के पहाड़ों का लुत्फ लेना चाहती हैं तो आप यहां के ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों पर जमी बर्फ का आनंद ले सकती हैं।

खड़ापत्थर कुप्पड़ ट्रेक:

खड़ापत्थर कुप्पड़ ट्रेक सबसे फेमस ट्रेक है जो हिमाचल प्रदेश की पब्बर घाटी का आसान ट्रेक है। इसकी शुरुआत खड़ापत्थर से होती है जो इस इलाके का प्रमुख गांव है। यहां खूबसूरत नज़ारों के बीच आपका वक्त अच्छा गुजरेगा।

जांगलिक-चन्दरनहान ट्रेक:

चंद्रनहन ट्रेक के लिए आपको जंग्लिक गांव की यात्रा करनी होगी और फिर रोडोडेंड्रोन, देवदार और ओक के पेड़ों, चमचमाती नदियों और नदियों के घने जंगलों के माध्यम से चुनौतीपूर्ण यात्रा शुरू करनी होगी।


रोहड़ू−बुरानघाटी दर्रा:

यह ट्रेक काफी सुखद है और सेब के बागों, छोटे सुंदर गांवों और स्पार्कलिंग नदियां आपको रास्ते में मिलेंगी। यह ट्रेक रोहड़ू से शुरू होता है और लगभग 4578 मीटर की दूरी पर बर्फ से ढकी बुरानघाटी दर्रे पर समाप्त होता है जो पूरी घाटी का मनोहर दृश्य प्रस्तुत करता है। 


Rajasthan High Court Driver Answer Key 2021: ड्राइवर स्क्रीनिंग टेस्ट का 'आंसर की' hcraj.nic.in पर जारी       देखें क्या हुआ, जब बिल्ली शरारती बच्चे की बनी गार्जियन...       ट्रैफिक हवलदार बन हाथी ने व्यक्ति को ऐसे सिखाया सबक, देख हो जाएंगे हैरान       एडवेंचर से भरपूर ट्रैकिंग की इन जगहों पर एक बार जाएं जरूर       विकेंड पर कुदरती नज़ारों के बीच वक्त गुजारना चाहते हैं तो...       बंजी जंपिंग के हैं शौक़ीन, तो ये जगहें हैं परफेक्ट       मेघालय की सीमा में घुसे पड़ोसी देश के हाथी, हो रहा है खूब वायरल       हाथी ने गुस्सैल गैंडे को सिखाया ऐसा सबक, देख आप कहेंगे भई वाह!       लॉकडाउन में बंदर ने पार्क में किया कुछ ऐसा, देख आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे       डॉगी ने हवा में किया ऐसा करतब, देख आप हो जाएंगे हैरान       लॉकडाउन में लड़के ने की ऐसी एक्सरसाइज, देख आप भी कहेंगे कल मैं भी...       मिनी डॉक्टर ने अपने पिता का किया इलाज, देख आप अपनी हंसी रोक नहीं पाएंगे       जब वन अधिकारी ने प्यासे नाग को पिलाया पानी, देख आप कह उठेंगे OMG!       भैंसे को छेड़ना पड़ा महंगा, देख आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे       चूहे ने गाया फ्रेडी मरकरी का ऐसा गाना, देख आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे       भालू ने बचाई कौए की जान, देख आप कहेंगे ऊपरवाले की लीला अपरंपार       भैंस को लात मारना पड़ा महंगा, देख आप अपनी हंसी रोक नहीं पाएंगे       डॉगी ने अपने दिव्यांग मालिक को कराई सैर, देख आंखें छलक उठेंगी       लॉकडाउन में डॉगी ने लड़की के साथ खेला वॉलीबॉल, देख आप हो जाएंगे हैरान       जब सीमा पर दिखा पाकिस्तान के पत्रकार, वीडियो देख आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे