योगी सरकार उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में लागू करेगी ये योजना, किसानों को होगा बड़ा फायदा

योगी सरकार उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में लागू करेगी ये योजना, किसानों को होगा बड़ा फायदा

लखनऊ:अटल भूजल योजना अब यूपी के सभी 75 जिलों में लागू होगी. अब तक यह उत्तर प्रदेश के केवल 10 जिलों में ही लागू है. इससे जहां किसानों को खेती में लाभ होगा वहीं सूबे में लगातार गिरते जलस्तर को सुधारने की दिशा में यह बहुत अहम साबित होगी. इस योजना का मकसद उन इलाकों में भूजल स्तर को उपर उठाना है जहां यह बहुत ज्यादा नीचे जा चुका है. इसके जरिये भूजल स्तर में बढ़ोत्तरी होने से किसानों को बहुत ज्यादा फायदा होगा और वह कम खर्च में अधिक पैदावार ले सकेंगे.


ताकि प्रदेश को न हो जल संकट का सामना

अभी तक अटल भूजल योजना यूपी के 10 जिलों तक सीमित थी, लेकिन योगी सरकार प्रदेश में भूजल के गिरते स्तर को देखते हुए इसे पूरे उत्तर प्रदेश में लागू करने पर कार्य कर रही थी. अब इसे उत्तर प्रदेश के बाकी 65 जिलों में भी लागू करने का निर्णय किया गया है. योजना के अनुसार सरकार जहां जल संरक्षण पर जोर देगी और इसके नए तरीका करेगी वहीं खेत की सिंचाई में लगने वाले पानी के लिये भी वैकल्पिक स्रोत तलाशे जाएंगे, ताकि आने वाले समय में प्रदेश को जल संकट जैसी भयावाह स्थिति का सामना न करना पड़े.


पानी बचाने और सहेजने की कवायद

योजना के अनुसार इसकी आरंभ बेसलाइन सर्वे के साथ होगी, जिसमें जिलों के भूजल स्तर का विस्तृत शोध होगा. हर ब्लाॅक में ऐसे पाॅजीमीटर बनाए जाएंगे जो डिजिटल वाटर लेवल रिकाॅर्डर से लैस होंगे. इनसे टेलीमेट्री के जरिये रियल टाइम ग्राउंड वाटर लेवल का पता लगाया जा सकेगा. इसके जरिये पिछले पांच वर्षों के ग्राउंड वाटर लेवल का आंकलन किया जाएगा. भूजल शोध के लिये एक बड़ा माॅनिटरिंग नेटवर्क विकसित किया जाएगा. जल संचयन और प्रबंधन पर विशेष फोकस होगा.


भूजल स्तर पर निर्भरता बढ़ी

उत्तर प्रदेश में जल संपदा से परिपूर्ण प्रदेश रहा है. हालांकि तेजी से बढ़ती आबादी और खेती की जरूरतों के चलते लगातार हुए भूजल दोहन के चलते प्रदेश में भूमिगत जल स्तर में गंभीर गिरावट देखी गई. वैकल्पिक जल स्रोतों के धीरे-धीरे खत्म होने के चलते यह संकट और बढ़ता गया है. सरकारी रिपोर्ट की मानें तो सूबे में भूजल पर निर्भरता बहुत ज्यादा बढ़ चुकी है. नमामि गंगे और ग्रामीण जलापूर्ति विभाग की रिपोर्ट के अनुसार 70 प्रतिशत सिंचाई, 80 प्रतिशत पेयजल और औद्योगिक क्षेत्र की जरूरतों के लिये 85 फीसदी निर्भरता भूजल पर ही है.


चिंतित करने वाले भूजल स्तर के आंकड़े

भूजल संसाधन आंकलन 2017 के आंकड़े भूजल स्तर की चिंता को और बढ़ाने वाले थे. इसमें जहां सन 2000 तक प्रदेश में भूजल सुरक्षित विकास खंडों की संख्या 745 थी वहीं 2017 में यह तेजी से घटकर 540 क जा पहुंची. उत्तर प्रदेश के 82 विकास खंड अतिदोहित, जबकि 47 क्रिटिकल और 151 विकास खंड सेमीक्रिटिकल की श्रेणि में दर्ज किय गए. 2017 के भूजल संसाधन आंकलन में पहली बार राजधानी लखनऊ समेत अलीगढ़, मुरादाबाद, गाजियाबाद, मेरठ, बरेली, वाराणसी, प्रयागराज और कानपुर अतिदोहित दर्ज किए गए हैं, जबकि आगरा को क्रिटिकल श्रेणी में रखा गया है.


योगी सरकार बनाएगी अफसर, फ्री कोचिंग के लिए आवेदन शुरू, छात्रों की बल्ले-बल्ले

योगी सरकार बनाएगी अफसर, फ्री कोचिंग के लिए आवेदन शुरू, छात्रों की बल्ले-बल्ले

लखनऊ। आगामी 16 फरवरी से योगी सरकार की अभ्युदय योजना में शामिल होने के लिए पंजीकरण शुरू हो गया है। यूपी सरकार गरीब छात्र छात्राओं के लिए प्रतियोगी परीक्षा की निःशुल्क कोचिंग शुरू करने जा रही है। इन कोचिंग में आईएएस, पीसीएस अधिकारी बनने के लिए गाइडेंस देने का काम किया जाएगा। पहले मंडल फिर जिलों में अभ्युदय कक्षाए चलेंगी।

सरकार की तरफ से फ्री कोचिंग के लिए पंजीकरण शुरू
अभ्युदय योजना के तहत प्रतियोगी परीक्षाओं, जिनमें सिविल सेवा, पीसीएस, जेईई, नीट, एनडीए, सीडीएस, पीओ, एसएससी, बीएड, टीईटी तथा अन्य ऐसी परीक्षाएं शामिल हैं, के लिए ग्रामीण क्षेत्र तथा निर्बल आय के परिवारों के बच्चों को इनकी गुणवत्तापरक तैयारी सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से यह योजना बसन्त पंचमी से लागू की जाएगी।

इसके तहत प्रतिभाशाली तथा उत्साही विद्यार्थियों को निःशुल्क साक्षात प्रशिक्षण एवं ऑनलाइन प्रशिक्षण एवं सलाह प्रदान की जाएगी। इसमें प्रतियोगी परीक्षाओं में छात्र छात्राओं की निःशुल्क तैयारी कर सकेगें। इसमें ऑनलाइन-ऑफलाइन मोड में होगी। यह पढ़ाई, मंडल स्तर पर होगी ।

अफसर बनने की तैयारी कराएगी योगी सरकार
इस सिविल सेवा, नीट, जेईई, बैंकिंग, टीईटी के अभ्यर्थियों के लिए है शुरू हो रही है। राज्य सरकार की योजना से उत्तर प्रदेश के छात्रों की प्रतिभा निकल कर सामने आएगी और वे समाज के विकास में अपना योगदान दे सकगेें।

फ्री कोचिंग के लिए यूपी के छात्र हो जाएं तैयार
सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों तथा निर्बल आय के परिवारों के बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए गुणवत्तापरक प्रशिक्षण देने के उद्देश्य से सभी मण्डलों में मौजूद विद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों के इन्फ्रास्ट्रक्चर का भरपूर उपयोग कक्षाएं चलाने के उद्देश्य से किया जाए। जिन मण्डलों में प्रशिक्षण का कार्य अच्छे ढंग से किया जा रहा हो, उनका मॉडल अन्य मण्डलों के साथ शेयर किया जाए। उन्होंने इन प्रशिक्षण केन्द्रों को चलाने के लिए उत्तर प्रदेश अकादमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन एण्ड मैनेजमेण्ट (उपाम) के सिस्टम को अपनाने को कहा गया है।

बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही कह चुके हैं कि सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों तथा निर्बल आय के परिवारों के बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए गुणवत्तापरक प्रशिक्षण देने के उद्देश्य से सभी मण्डलों में मौजूद विद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों के इन्फ्रास्ट्रक्चर का भरपूर उपयोग कक्षाएं चलाने के उद्देश्य से किया जाए। जिन मण्डलों में प्रशिक्षण का कार्य अच्छे ढंग से किया जा रहा हो, उनका मॉडल अन्य मण्डलों के साथ शेयर किया जाए।

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ‘मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना’ को सेल्फ सस्टेनेबल बनाया जाए। उन्होंने कहा कि इसे प्रभावी ढंग से लागू करने से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले बच्चों को काफी मदद मिलेगी और उनका उत्साहवर्धन होगा। राज्य सरकार प्रदेश के युवाओं की प्रतिभा को निखारने के लिए सभी प्रयास करेगी।


केंद्रीय विद्यालय वायु सेना स्थल, बरनाला में वॉक-इन-इंटरव्यू 23 फरवरी से       घोषित हुआ टियर 2 परीक्षा का परिणाम, इस लिंक से देखें सफल उम्मीदवारों की लिस्ट       सीटीईटी आंसर-की इस डायरेक्ट लिंक से करें डाउनलोड       बिहार पुलिस लेडी कॉन्स्टेबल परीक्षा के फाइनल रिजल्ट करें चेक       हरियाणा बोर्ड ने डीएलएड परीक्षा का संशोधित शेड्यूल किया जारी       मैनेजमेंट प्रवेश परीक्षा के नतीजे इस पर जारी, करें चेक       बिहार सरकार का निर्णय, कक्षा 1 से 8 तक के छात्र बिना परीक्षा के होंगे पास       जम्मू विंटर जोन के लिए 12वीं परीक्षा का रिजल्ट जारी       एमबीबीएस फर्स्ट प्रोफेशनल की फाइनल परीक्षा की डेटशीट जारी       10वीं की सोशल साइंस का पेपर लीक होने पर बिहार बोर्ड ने की रद्द की परीक्षा       ऑल इंडिया बार एग्जामिनेशन के लिए आज बंद होगी रजिस्ट्रेशन विंडो       10वीं और 12वीं की परीक्षाओं की तारीखों का ऐलान विधानसभा चुनावों की तिथियों की घोषणा के बाद       हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने क्लर्क लिखित परीक्षा का परिणाम घोषित       अधिकतम और न्यूनतम आयु सीमा में 30 दिनों की छूट दे सकते हैं स्कूल, प्रिंसिपल को करना होगा अप्रोच       ऑल इंडिया बार एग्जामिनेशन स्थगित, आवेदन की तारीख 22 मार्च तक बढ़ी       कामधेनु गोविज्ञान प्रचार प्रसार परीक्षा 2021 स्थगित, राष्ट्रीय कामधेनु आयोग ने जारी किया अपडेट       सहायक अभियोजन अधिकारी प्रारंभिक परीक्षा के ‘आंसर की’ जारी       कल से होनी है जेईई मेन परीक्षा, करें अधिक स्कोर       जेईई मेन परीक्षा के दौरान उम्मीदवार ध्यान में रखें ये कुछ नियम       रेलवे भर्ती बोर्ड ने 'आंसर की' जारी की, दिसंबर और जनवरी में हुए थे मिनिस्टीरियल