यूपी में रोजगारः योगी सरकार का बड़ा कदम, पूर्वांचल के पूरे क्षेत्र का विकास माॅडल तैयार

यूपी में रोजगारः योगी सरकार का बड़ा कदम, पूर्वांचल के पूरे क्षेत्र का विकास माॅडल तैयार

लखनऊ: देश की आजादी के बाद पूर्वांचल का पूरा क्षेत्र कई वर्षो तक विकास की बाट जोहता रहा। इसी कारण इस पूरे क्षेत्र में बेरोजगार युवक पलायन करने को मजबूर हुए लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब इसके विकास के लिए कई कदम उठाए हैं। जिसके चलते इस पूरे क्षेत्र के विकास कार्यों ने तेजी पकडी है। हाल ही में मुख्यमंत्री योगी अपने अधिकारियोंके साथ दो दिन गोरखपुर में रूककर पूर्वांचल क्षेत्र के विकास का खाका खींचने का काम किया है।

घाघरा नदी पुल पर 50 वेल में से 18 पर काम शुरू
घाघरा नदी पुल पर 50 वेल में से 18 पर काम शुरू हो गया है। शेष वेल बनाने का कार्य बरसात आने से पहले प्रारम्भ हो जाएगा। मार्च 2022 तक गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे का कार्य पूर्ण हो जाएगा। गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे बनने के बाद लखनऊ से गोरखपुर आवागमन का एक और वैकल्पिक मार्ग तैयार हो जाएगा।

ज्ञातव्य है कि गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे प्रवेश नियंत्रित (ग्रीन फील्ड) परियोजना एक्सप्रेस-वे गोरखपुर बाईपास एनएच-27 ग्राम-जैतपुर के पास से प्रारम्भ होकर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर आजमगढ़ में समाप्त होगा। एक्सप्रेस-वे की लम्बाई 91.352 किमी है। एक्सप्रेस-वे से जनपद गोरखपुर, अम्बेडकरनगर, संतकबीरनगर, आजमगढ़ लाभान्वित होंगे।

एक्सप्रेस-वे 4-लेन चौड़ा (6 लेन तक विस्तारणीय) तथा संरचनाएं 6-लेन चौड़ाई की बनायी जाएगी। एक्सप्रेस-वे के एक ओर 3.75 मी चौड़ाई की सर्विस रोड स्टैगर्ड रूप में बनाई जाएगी, जिससे परियोजना के आस-पास के गांव के निवासियों को एक्सप्रेस-वे पर आवागमन की सुविधा उपलब्ध हो सके। एक्सप्रेस-वे के निर्माण में 2 टोल प्लाजा, 3 रैम्प प्लाजा, 7 फ्लाई ओवर, 16 व्हेकुलर अण्डरपास, 50 लाइट व्हेकुलर अण्डरपास, 35 पेडेस्ट्रियन अण्डरपास, 7 दीर्घ सेतु, 27 लघु सेतु तथा 389 पुलियों का निर्माण भी किया जाएगा।

गोरखपुर क्षेत्र का सर्वांगीण विकास का मार्ग होगा प्रशस्त
एक्सप्रेस-वे के निर्माण से गोरखपुर क्षेत्र पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के माध्यम से लखनऊ, आगरा एवं दिल्ली तक त्वरित एवं सुगम यातायात कॉरिडोर से जुड़ जाएगा। एक्सप्रेस-वे के निर्माण से गोरखपुर क्षेत्र का सर्वांगीण विकास का मार्ग प्रशस्त होगा। एक्सप्रेस-वे के प्रवेश नियंत्रित होने से वाहनों के ईंधन खपत में महत्वपूर्ण बचत, समय की बचत एवं पर्यावरणीय प्रदूषण का नियंत्रण भी सम्भव हो सकेगा।

एक्सप्रेस-वे से अच्छादित क्षेत्रों में स्थित विभिन्न उत्पादन इकाइयों, विकास केन्द्रों तथा कृषि उत्पादन क्षेत्रों को राष्ट्रीय राजधानी से जोड़ने हेतु एक औद्योगिक कॉरिडोर के रूप में सहायक होगा। एक्सप्रेस-वे के निकट इण्डस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान, मेडिकल संस्थान आदि की स्थापना के लिए भी अवसर सुलभ होंगे।

लखनऊ समेत आजमगढ़ और अयोध्या से जुड़ेगी एक्सप्रेस-वे
उल्लेखनीय है कि 6-लेन पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे गाजीपुर जनपद को राज्य की राजधानी लखनऊ समेत आजमगढ़ और अयोध्या से जोड़ेगी। 340.824 किलोमीटर एक्सप्रेसवे का निर्माण 22,494 करोड़ रुपये की लागत से किया जा रहा है। यह लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर, अयोध्या, अम्बेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर सहित 09 जिलों से होकर गुजरेगा। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 14 जुलाई, 2018 को आजमगढ़ में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे की आधारशिला रखी थी। इस योजना पर अब तक करीब 68 प्रतिशत काम पूरा किया जा चुका है। यह 302 किमी लम्बे लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे और आगरा से दिल्ली तक 165 किमी लम्बे यमुना एक्सप्रेस-वे से जुड़ेगा।

लड़ाकू विमानों के लैंडिंग-टेक ऑफ के लिये हवाईपट्टी का निर्माण
इस एक्सप्रेस-वे के अन्तर्गत (मेन कैरिज-वे पर) कुल 18 फ्लाईओवर, 07 रेलवे ओवर ब्रिज, 07 दीर्घ सेतु, 118 लघु सेतु, 13 इन्टरचेन्ज (06 टोल प्लाजा सहित), 05 रैम्प प्लाजा, 271 अण्डरपास तथा 503 पुलियों का निर्माण कार्य प्रगति में है। एक्सप्रेस-वे पर आपातकालीन स्थिति में भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों के लैण्डिंग टेक ऑफ के लिये जनपद सुल्तानपुर में 3.2 कि0मी0 लम्बी हवाईपट्टी का निर्माण भी प्रस्तावित है।

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से आच्छादित क्षेत्रों में स्थित विभिन्न उत्पादन इकाइयों, विकास केन्द्रों तथा कृषि उत्पादन क्षेत्रों को प्रदेश की राजधानी एवं राष्ट्रीय राजधानी से जोड़ने हेतु एक औद्योगिक काॅरिडोर के रूप में सहायक होगा। एक्सप्रेस-वे हैण्डलूम उद्योग, खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों, भण्डारण गृह, मण्डी तथा दुग्ध आधारित उद्योगों की स्थापना हेतु एक उत्प्रेरक के रूप में काम करेगा।

एक्सप्रेस-वे के निर्माण से परियोजना आच्छादित क्षेत्रों में पर्यटन के विकास को बल मिलेगा एवं विकास से उपेक्षित प्रदेश के इन पूर्वी क्षेत्रों का सर्वांगीण एवं चहुंमुखी विकास सम्भव हो सकेगा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे का कार्य निर्धारित समय-सीमा के अन्तर्गत पूर्ण करने के साथ ही शेष भूमि अधिग्रहण की कार्यवाही शीर्ष प्राथमिकता के आधार पर पूरा करने को कहा है।


सीएम योगी ने मेरठ को दिया करोड़ों का तोहफा!

सीएम योगी ने मेरठ को दिया करोड़ों का तोहफा!

प्रदेष के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज पश्चिमी उत्तर पदेश के सबसे बडे जिले मेरठ को कई योजनाओं की सोगात दी । केन्द्र सरकार के सहयोग से मेरठ को मेट्रो का विकल्प देने की घोेषणा करते हुए योगी ने कहा कि 32,000 करोड़ रुपए की लागत से यह मेरठ को दिल्ली के साथ जोड़ेगा। साथ ही, यह देश का पहला कार्य होगा, जहां इतनी बड़ी दूरी से जोड़ने की कार्य योजना बन रही है।

देश के विकास में योगदान
मुख्यमंत्री ने कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसानों, युवाओं, बहन-बेटियों, माताओं, विद्वानों और समाज के हर तबके के लोगों ने देश के विकास में अपना योगदान दिया है, उसके प्रति शासन कृतज्ञतापूर्वक अपना कार्य कर सके, इसी भाव के साथ केन्द्र और राज्य सरकार कार्य कर रही हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले तीन वर्षों के दौरान प्रदेश सरकार ने गन्ना किसानों को एक लाख 12 हजार करोड़ रुपए का भुगतान किया है। रमाला चीनी मिल के विस्तारीकरण और आधुनिकीकरण की मांग 40 वर्षों से हो रही थी। राज्य सरकार ने वहां पर नया प्लाण्ट देकर किसानों को पूरी तरह से आश्वस्त किया कि उनके हितों को हर प्रकार का संरक्षण देंगे। सत्ता में आने के बाद राज्य सरकार ने 300 खाण्डसारी उद्योगों को लाइसेंस देकर व्यापक पैमाने पर फिर से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में खाण्डसारी उद्योग को पुनर्जीवित किया है। अब यह उद्योग बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार भी दे रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

जितनी चीनी की आवश्यकता उतना उत्पादन
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश व दुनिया को जितनी चीनी की आवश्यकता होगी, उतनी चीनी का उत्पादन किया जाएगा। शेष गन्ने से एथेनॉल बनाकर वाहनों को इससे चलाने की व्यवस्था की जाएगी, जिससे खाड़ी देशों को पेट्रोल व डीजल के नाम पर पैसा नहीं देना पड़ेगा। वह पैसा हमारे किसानों के खाते में जाएगा। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के विकास में किसी भी प्रकार की कोई कोताही नहीं आने दी जाएगी। साथ ही, यहां की बहन-बेटियों की सुरक्षा के साथ भी किसी को खिलवाड़ नहीं करने देंगे।

इस मौके पर उन्होंने सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय, मेरठ में आयोजित तीन दिवसीय कृषि प्रदर्षनी का उद्घाटन किया। उन्होंने प्रदर्षनी में लगे स्टाॅलों का अवलोकन किया। उन्होंने कहा कि कृषि प्रदर्षनी से किसानों को नई तकनीक की जानकारी होगी तथा जैविक खेती के विभिन्न आयामों से भी किसान अवगत होंगे। उन्होंने कहा कि किसानों को अधिक से अधिक संख्या में आकर इस कृषि प्रदर्षनी का लाभ लेना चाहिए। इस अवसर पर उन्होंने लाभार्थी किसानों को अनुदान पर मिले ट्रैक्टरों की चाभी सौंपी। कार्यक्रम को कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने भी सम्बोधित किया।


इस गांव में पिछले 9 सालों से नहीं पैदा हुआ कोई लड़का, लड़का होने पर मिलता है इनाम       यहां अस्थि कलश के लॉकर भी हुए हाउसफुल, मोक्ष कलश योजना से जाएंगे हरिद्वार       22 बच्चों की मां ने औनलाइन शेयर किया दर्द       यहां पति के मरते ही नर्क हो जाती है महिला की जिंदगी       हाथ लगा 11 हजार वर्ष पुराना अनमोल 'खजाना', अमेरिका में गोताखोरों की खुली किस्‍मत       सेंट्रल रेलवे ने सीनियर रेजिडेंट के पदों पर निकली वैकेंसी, ऐसे होगा सेलेक्शन       लेखा विभाग गोवा में निकली 109 एकाउंटेंट की भर्ती, इस दिन से करें ऑनलाइन आवेदन       सीडैक नोएडा में 119 प्रोजेक्ट मैनेजर और इंजीनियर पदों के लिए आवेदन का कल आखिरी दिन       नेशनल एंट्रेंस स्क्रीनिंग टेस्ट के लिए आवेदन की लास्ट डेट नजदीक       डीएसएसएसबी भर्ती परीक्षा स्थगित, DSSSB ने dsssb.delhi.gov.in पर जारी किया नोटिफिकेशन       नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर रेलवे में इन पदों पर निकली वैकेंसी, 11 मई को होगा इंटरव्यू       आईआईटी मंडी में जूनियर इंजीनियर और स्पोर्ट्स ऑफिसर सहित अन्य 43 पदों पर निकली भर्तियां       टाटा मेमोरियल सेंटर, वाराणसी में निकली पंप ऑपरेटर और फायरमैन की भर्ती       यहां निकली है राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की भर्ती, 166 पदों के लिए आवेदन 31 मई तक       ऑयल इंडिया लिमिटेड में निकली 119 असिस्टेंट मेकेनिक और अन्य पदों की भर्ती       कोरोना कहर के चलते यूजीसी ने लिया बड़ा फैसला, मई में होने वाली सभी ऑफलाइन परीक्षाओं पर लगाई रोक       पीजीटी के पदों के लिए परीक्षा की तारीखें घोषित       आईआईटी दिल्ली ने गेट काउंसलिंग की स्थगित, यहां पढ़ें पूरी जानकारी       एडमिशन टेस्ट के लिए 29 मई तक आवेदन का मौका, ऐसे करें अप्लाई       फॉरेन मेडिकल ग्रेजुएट एग्जामिनेशन रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख आज