थाना व तहसील दिवस पर कितनी हुई फरियादियों की सुनवाई, सीएम योगी ने तलब की रिपोर्ट

थाना व तहसील दिवस पर कितनी हुई फरियादियों की सुनवाई, सीएम योगी ने तलब की रिपोर्ट

यूपी में आम आदमी की फरियाद को अनसुना करने वाले अधिकारियों के बुरे दिनों की शुरुआत होने जा रही है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी थानों और तहसीलों पर लंबित शिकायतों का ब्यौरा तलब किया है। जिलेवार तैयार हो रही इस रिपोर्ट में थाना और तहसील दिवस में आईं शिकायतों के आधार पर एक-एक थाने और तहसील की कार्यपद्धति का आकलन होगा। साथ ही जनता-दर्शन और आइजीआरएस पोर्टल पर आईं समस्याओं को भी रिपोर्ट में शामिल किया जा रहा है। यह जिला और विभागवार रिपोर्ट फील्ड में तैनात अधिकारियों के प्रदर्शन की गुणवत्ता का मानक बनेगा। मुख्यमंत्री खुद इस बाबत जिलाधिकारियों और पुलिस कप्तानों के साथ समीक्षा करेंगे, जिसके बाद लापरवाह अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जन शिकायतों के समाधान में तेजी लाने के लिए आइजीआरएस तथा थाना व तहसील दिवस में आई शिकायतों के निस्तारण और लंबित मामलों की विस्तृत रिपोर्ट तलब की है। उन्होंने इसे मुख्यमंत्री कार्यालय को उपलब्ध कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। सीएम योगी ने इस रिपोर्ट में यह विवरण भी शामिल करने को कहा है कि शिकायतकर्ता की संतुष्टि का स्तर क्या रहा।

जन शिकायतों के निस्तारण को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार गंभीरता बरत रहे हैं। कुछ समय पहले ही उन्होंने समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली (आइजीआरएस) सहित थाना और तहसील दिवस पर आने वाली शिकायतों का निस्तारण प्राथमिकता पर करने के निर्देश दिए थे। सीएम योगी ने आवेदन देने के पांच दिन के अंदर निवारण हो जाने की हिदायत देते हुए कहा था कि किसी को दोबारा आवेदन न देना पड़े। बुधवार को अपने सरकारी आवास पर आयोजित उच्चस्तरीय बैठक में उन्होंने फिर इसे लेकर कड़े निर्देश दिए और रिपोर्ट मांगी।

दूसरी तरफ कोरोना संक्रमण की समीक्षा के दौरान अधिकारियों ने सीएम योगी आदित्यनाथ को बताया कि पिछले 24 घंटों में राज्य में कोरोना संक्रमण के 16 नए मामले सामने आए हैं। इस अवधि में 28 व्यक्तियों को ठीक होने पर अस्पताल से छुट्टी दी गई। अब सक्रिय मामलों की संख्या 214 है। इस पर सीएम योगी ने कानपुर नगर में डाक्टरों की विशेष टीम भेजने के निर्देश दिए।

उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार सभी 75 जिलों में कम से कम एक-एक मेडिकल कालेज की स्थापना के लिए कृतसंकल्पित है। जल्द ही नौ जिलों में नवनिर्मित मेडिकल कालेजों का लोकार्पण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 14 जिलों में मेडिकल कालेज की स्वीकृति मिल गई है। मुख्यमंत्री ने इनके शिलान्यास की तैयारी करने के निर्देश दिए हैैं।


गोरखपुर का ये गांव बन गया नंबर वन, जानिए पूरा मामला

गोरखपुर का ये गांव बन गया नंबर वन, जानिए पूरा मामला

जिले के 12 गांवों में सौ फीसद कोविड टीकाकरण हो चुका है। हर व्यक्ति को कोरोना रोधी टीका लगाया जा चुका है। हालांकि अभी ज्यादातर को पहली डोज ही लगाई गई है। इसमें सरदार नगर के आठ व खजनी के चार गांव हैं। इसमें खजनी का रावतडाड़ी गांव नंबर वन है। वहीं सबसे पहले सौ फीसद टीकाकरण हुआ है। वैक्सीन पर्याप्त मिलने लगी है, इसलिए अब ज्यादातर बूथ संचालित किए जा रहे हैं।

गांवों में जाकर लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित कर रही है स्वास्थ्य विभाग की टीमें

स्वास्थ्य विभाग की टीमें गांवों में जाकर लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित कर रही हैं। सरदार नगर के शिवपुर, महुअवा बुजुर्ग, बसडीला, भौवापार, देवकलिया, छपरा मंसूर, जयपुर, देवीपुर तथा खजनी के रावतडाड़ी, गोपालपुर, सरया तिवारी व केवटली में सौ फीसद टीकाकरण हो चुका है। खजनी के रावतडाड़ी गांव का यूनिसेफ की टीम ने निरीक्षण किया है और अब वीडियो बनाने की तैयारी चल रही है।


12 गांवों में सौ फीसद किया गया टीकाकरण

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा.एनके पांडेय ने कहा कि जिले में 12 गांवों में सौ फीसद टीकाकरण किया गया है। वहां के सभी निवासियों को पहली डोज लगा दी गई है। दूसरी डोज भी लगाई जा रही है। लगभग दो दर्जन गांव ऐसे हैं, जहां सौ फीसद टीकाकरण पूरा होने के करीब है।

38741 लोगों को लगाया गया कोरोना रोधी टीका


कोविड टीकाकरण अभियान में 135 बूथों पर 38741 लोगों को कोरोना रोधी टीका लगाया गया। 29851 को पहली व 8890 लोगों को दूसरी डोज दी गई। बूथों पर भीड़ उमड़ी थी।

गीताप्रेस अतिथि भवन में टीकाकरण आज

अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के तत्वावधान में गीताप्रेस रोड स्थित गीताप्रेस अतिथि भवन में आठ व 10 सितंबर को कोरोना रोधी टीका लगाया जाएगा। टीकाकरण सुबह 10 बजे से शुरू होगा। लोगों को कोविशील्ड की पहली व दूसरी डोज दी जाएगी। यह जानकारी महामंत्री राजू लुहारुका ने दी है।