यूपी में 3620 डॉक्टर्स की भर्ती, 600 बाल रोग जानकार डॉक्टर होंगे भर्ती

यूपी में 3620 डॉक्टर्स की भर्ती, 600 बाल रोग जानकार डॉक्टर होंगे भर्ती

लखनऊ: application for 3620 doctors 600 pediatricians recruitment in UP. कोविड-19 (Corona Virus) की तीसरी लहर से निपटने के लिए यूपी की योगी सरकार ने तैयारियां तेज कर दी हैं. सभी को समय पर और जल्द उपचार मिले इसके लिए उत्तर प्रदेश में 3620 जानकार डॉक्टरों की भर्ती की जाएगी. यूपी में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवा (पीएमएस) संवर्ग में 3620 जानकार डॉक्टरों की भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए जा चुके हैं. इच्छुक अभ्यर्थियों के लिए आवेदन फार्म वेबसाइट पर मौजूद है. 28 जून तक अभ्यर्थी आवेदन कर सकते हैं. इन पदों में सबसे अधिक 600 पद बाल रोग जानकार के लिए भर्ती होनी है. इसके अतिरिक्त 590 पद जनरल फिजिशियन और 590 जनरल सर्जन के अतिरिक्त रेडियोलॉजिस्ट, पैथोलॉजिस्ट और ईएनटी जानकार होंगे. सभी को गृह जिले में तैनाती दी जाएगी.

स्वास्थ्य विभाग सचिव को पत्र

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद की ओर से केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव के साथ-साथ सभी राज्यों के स्वास्थ्य विभाग के सचिवों को पत्र लिखकर आग्रह किया गया है कि यूपी में जानकार डॉक्टरों की भर्ती से संबंधित जानकारी अपने मेडिकल कॉलेज, डॉक्टर एसोसिएशन और भारतीय मेडिकल एसोसिएशन की प्रदेश इकाई को दें. ऐसा इसलिए ताकी अधिक से अधिक अभ्यर्थी आवेदन करें.

करीब पांच हजार पद खाली

पीएमएस संवर्ग में एमबीबीएस डॉक्टर और जानकार डॉक्टरों के कुल 18,700 पद हैं. इन पदों में से 50 फीसदी एमबीबीएस डॉक्टर और 50 फीसदी जानकार डॉक्टरों के हैं. करीब 5000 पद खाली हैं. जानकार डॉक्टरों की संख्या को बढाने के लिए रिक्त पदों को जल्द से जल्द भरने का कोशिश किया जा रहा है. इससे पहले दिसंबर 2020 में पीएमएस संवर्ग की नयी सेवा नियमावली लागू की गई थी. इसके अनुसार जानकार डॉक्टरों के पदों पर परास्नातक और डिप्लोमा पास अभ्यर्थियों को सीधे लेवल टू के मेडिकल अधिकारी पद पर भर्ती का नियम लागू किया गया. जानकार डॉक्टरों के पदों को भरने के लिए गृह जनपद में तैनाती का ऑफर है. यानी कि नए भर्ती होने वाले स्पेशलिस्ट डॉक्टरों के गृह जिले में यदि पद खाली हैं तो उन्हें अहमियत के आधार पर तैनाती दी जाएगी.


गोरखपुर का ये गांव बन गया नंबर वन, जानिए पूरा मामला

गोरखपुर का ये गांव बन गया नंबर वन, जानिए पूरा मामला

जिले के 12 गांवों में सौ फीसद कोविड टीकाकरण हो चुका है। हर व्यक्ति को कोरोना रोधी टीका लगाया जा चुका है। हालांकि अभी ज्यादातर को पहली डोज ही लगाई गई है। इसमें सरदार नगर के आठ व खजनी के चार गांव हैं। इसमें खजनी का रावतडाड़ी गांव नंबर वन है। वहीं सबसे पहले सौ फीसद टीकाकरण हुआ है। वैक्सीन पर्याप्त मिलने लगी है, इसलिए अब ज्यादातर बूथ संचालित किए जा रहे हैं।

गांवों में जाकर लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित कर रही है स्वास्थ्य विभाग की टीमें

स्वास्थ्य विभाग की टीमें गांवों में जाकर लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित कर रही हैं। सरदार नगर के शिवपुर, महुअवा बुजुर्ग, बसडीला, भौवापार, देवकलिया, छपरा मंसूर, जयपुर, देवीपुर तथा खजनी के रावतडाड़ी, गोपालपुर, सरया तिवारी व केवटली में सौ फीसद टीकाकरण हो चुका है। खजनी के रावतडाड़ी गांव का यूनिसेफ की टीम ने निरीक्षण किया है और अब वीडियो बनाने की तैयारी चल रही है।


12 गांवों में सौ फीसद किया गया टीकाकरण

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा.एनके पांडेय ने कहा कि जिले में 12 गांवों में सौ फीसद टीकाकरण किया गया है। वहां के सभी निवासियों को पहली डोज लगा दी गई है। दूसरी डोज भी लगाई जा रही है। लगभग दो दर्जन गांव ऐसे हैं, जहां सौ फीसद टीकाकरण पूरा होने के करीब है।

38741 लोगों को लगाया गया कोरोना रोधी टीका


कोविड टीकाकरण अभियान में 135 बूथों पर 38741 लोगों को कोरोना रोधी टीका लगाया गया। 29851 को पहली व 8890 लोगों को दूसरी डोज दी गई। बूथों पर भीड़ उमड़ी थी।

गीताप्रेस अतिथि भवन में टीकाकरण आज

अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के तत्वावधान में गीताप्रेस रोड स्थित गीताप्रेस अतिथि भवन में आठ व 10 सितंबर को कोरोना रोधी टीका लगाया जाएगा। टीकाकरण सुबह 10 बजे से शुरू होगा। लोगों को कोविशील्ड की पहली व दूसरी डोज दी जाएगी। यह जानकारी महामंत्री राजू लुहारुका ने दी है।