योगी सरकार का बड़ा एलान, मिलेगी ये राहत

योगी सरकार का बड़ा एलान, मिलेगी ये राहत

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए घोषणा की है कि गन्ना किसानों को बकाया गन्ना मूल्य के एवज में चीनी दी जाएगी। यूपी देश का यह पहला राज्य है जिसने गन्ना किसानों के हित मे इस तरह का फैसला लिया है। इसके पहले यूपी में भी गन्ना किसानों को कभी गन्ना मूल्य के बदले चीनी नहीं दी गयी।

यूपी के गन्ना किसानों को बड़ी राहत
मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ लगातार कोरोना महामारी के दौरान भी गन्ना किसानों के आर्थिक हितों का पूरा ख्याल रख रहे हैं। यह निर्णय उसी श्रंखला की एक कडी है। इन्ही प्रयासों की कड़ी में विस्तृत जानकारी देते हुए प्रदेश के आयुक्त, गन्ना एंव चीनी संजय आर. भूसरेड्डी ने बताया कि गन्ना कृषकों द्वारा चीनी उपलब्ध कराये जाने की मांग को देखते हुए राज्य सरकार ने फैसला लिया है कि पेराई सत्र 2019-20 के तहत गन्ना किसानों को बकाया गन्ना मूल्य के एवज में चीनी की उपलब्धता कराई जाएगी।

बकाए गन्ना मूल्य के बदले मिलेगी चीनी
उन्होंने यह भी बताया की प्रत्येक गन्ना कृषक को 01 कुन्तल चीनी प्रति माह में उस दिन के चीनी के न्यूनतम बिक्री मूल्य तथा जी.एस.टी. के आधार पर माह जून, 2020 तक उपलब्ध करायी जायेगी। यदि चीनी मिल द्वारा उस दिन कोई चीनी बिक्री नहीं की गई है तो उसके पूर्व दिवस में चीनी के न्यूनतम बिक्री मूल्य तथा जी.एस.टी. के आधार पर कृषकों को चीनी उपलब्ध करायी जायेगी।

योगी सरकार ने चीनी मिल मालिकों को दिए ये आदेश
गन्ना आयुक्त द्वारा चीनी मिलों के अध्यासियों को यह भी निर्देशित किया गया कि कृषकों को उपलब्ध करायी जाने वाली चीनी की मात्रा भारत सरकार द्वारा सम्बन्धित चीनी मिल के निर्धारित मासिक कोटे के तहत ही होगी। वहीं जी.एस.टी. को नियमानुसार राजकोष में जमा करने का उत्तरदायित्व सम्बन्धित चीनी मिल का होगा।

अगर जीएसटी जमा करने या न्यूनतम मूल्य से अधिक मूल्य पर कृषकों को चीनी दिए जाने का प्रकरण संज्ञान में आता है तो सम्बन्धित मिल इसके लिए जिम्मेदार होगी। गन्ना आयुक्त द्वारा समस्त जिला गन्ना अधिकारियों एवं उप गन्ना आयुक्तों को इसका नियमित अनुश्रवण सुनिश्चित करने के लिए किया गया है।


गोरखपुर का ये गांव बन गया नंबर वन, जानिए पूरा मामला

गोरखपुर का ये गांव बन गया नंबर वन, जानिए पूरा मामला

जिले के 12 गांवों में सौ फीसद कोविड टीकाकरण हो चुका है। हर व्यक्ति को कोरोना रोधी टीका लगाया जा चुका है। हालांकि अभी ज्यादातर को पहली डोज ही लगाई गई है। इसमें सरदार नगर के आठ व खजनी के चार गांव हैं। इसमें खजनी का रावतडाड़ी गांव नंबर वन है। वहीं सबसे पहले सौ फीसद टीकाकरण हुआ है। वैक्सीन पर्याप्त मिलने लगी है, इसलिए अब ज्यादातर बूथ संचालित किए जा रहे हैं।

गांवों में जाकर लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित कर रही है स्वास्थ्य विभाग की टीमें

स्वास्थ्य विभाग की टीमें गांवों में जाकर लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित कर रही हैं। सरदार नगर के शिवपुर, महुअवा बुजुर्ग, बसडीला, भौवापार, देवकलिया, छपरा मंसूर, जयपुर, देवीपुर तथा खजनी के रावतडाड़ी, गोपालपुर, सरया तिवारी व केवटली में सौ फीसद टीकाकरण हो चुका है। खजनी के रावतडाड़ी गांव का यूनिसेफ की टीम ने निरीक्षण किया है और अब वीडियो बनाने की तैयारी चल रही है।


12 गांवों में सौ फीसद किया गया टीकाकरण

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा.एनके पांडेय ने कहा कि जिले में 12 गांवों में सौ फीसद टीकाकरण किया गया है। वहां के सभी निवासियों को पहली डोज लगा दी गई है। दूसरी डोज भी लगाई जा रही है। लगभग दो दर्जन गांव ऐसे हैं, जहां सौ फीसद टीकाकरण पूरा होने के करीब है।

38741 लोगों को लगाया गया कोरोना रोधी टीका


कोविड टीकाकरण अभियान में 135 बूथों पर 38741 लोगों को कोरोना रोधी टीका लगाया गया। 29851 को पहली व 8890 लोगों को दूसरी डोज दी गई। बूथों पर भीड़ उमड़ी थी।

गीताप्रेस अतिथि भवन में टीकाकरण आज

अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के तत्वावधान में गीताप्रेस रोड स्थित गीताप्रेस अतिथि भवन में आठ व 10 सितंबर को कोरोना रोधी टीका लगाया जाएगा। टीकाकरण सुबह 10 बजे से शुरू होगा। लोगों को कोविशील्ड की पहली व दूसरी डोज दी जाएगी। यह जानकारी महामंत्री राजू लुहारुका ने दी है।