एक ऐसी प्रथा जिसमें लड़कियों को इस से बचाने के लिए अपनाई जाती है दर्दनाक प्रथा!

एक ऐसी प्रथा जिसमें लड़कियों को इस से बचाने के लिए अपनाई जाती है दर्दनाक प्रथा!

लड़कियां अक्सर प्रथाओं के नाम पर कुप्रथाओं की भेट चढ़ा दी जाती हैं। ऐसी ही एक अजीबो-गरीब प्रथा सामने आई। ये ख़बर देखने और सुनने में ही दिल दहला देने वाली है। खबर है कि लड़कियों का बलात्कार होने से बचाने के लिए अफ्रीका में एक दर्दनाक प्रथा का चलन है। वहां के लोगों का मानना है कि प्रथा का पालन करने से लड़कियों का रेप नहीं हो सकता और वो शादी से पहले गर्भवती नहीं होंगी। साथ ही कोई भी पुरुष लड़कियों पर बुरी नज़र नहीं डालेगा और वो सुरक्षित रहती हैं। 

अफ्रीका के कई देशों जैसे साउथ अफ्रीका, कैमरून और नाइजीरिया जैसी जगहों पर लड़कियों को रेप से बचने के लिए उन्हें असहनीय पीड़ा और दर्द से गुजरना होता है। इस अनोखी प्रथा का नाम है ‘ब्रेस्ट आयरनिंग’, जिसमें किशोरावस्था के शुरू होते ही लड़कियों के ब्रेस्ट को गर्म लकड़ी के टुकड़ों से दागा जाता है, ताकि वे बढ़ न सकें और सपाट रहें।

ब्रेस्ट आयरनिंग’ प्रथा में किशोरावस्था में ही लड़कियों के स्तन विकसित होने की प्रक्रिया को रोक दिया जाता है। लड़कियों के स्तनों को बढ़ने से रोकने के लिए उन्हें गर्म लोहे की छड़ों या गर्म पत्थर से दाग दिया जाता है, ताकि वो चपटे हो जाएं और बढ़ें नहीं। 10 साल से कम उम्र की कई लड़कियां भी हर रोज़ इस प्रथा का शिकार होती हैं। आपको जानकर बेहद हैरानी होगी कि लड़कियों की ‘ब्रेस्ट आयरनिंग’ कोई और नहीं बल्कि खुद लड़की की मां ही करती है।

‘ब्रेस्ट आयरनिंग’ के कारण महिलाओं को मानसिक एवं शारीरिक कष्टों का सामना करना पड़ता है। इनके स्तनों में दर्द होता है। चिकित्सकों का कहना है कि शरीर के संवदेनशील अंगों को इस तरह से दबाने से इन महिलाओं को कैंसर का खतरा हो सकता है।


इतने दिनों से हवालात में बंद हैं दो मुर्गे, इस जुर्म की भुगत रहे हैं सजा

इतने दिनों से हवालात में बंद हैं दो मुर्गे, इस जुर्म की भुगत रहे हैं सजा

चोरी करने या अन्य किसी आपराधिक घटना को अंजाम देने के चलते अक्सर पुलिस आरोपी को पुलिस जेल में बंद कर देती है। ऐसा ही कुछ तेलंगाना पुलिस ने भी किया। मगर हैरानी की बात यह है कि यहां दोषी कोई इंसान नहीं बल्कि दो मुर्गे हैं। जी हां, सुनने आपको भले ही ये बात अजीब लगे, लेकिन पुलिस ने दो मुर्गों को हवालात में डाला है। उन पर सट्टेबाजी का आरोप है। पुलिस ने इन्हें जनवरी में पकड़ा था। ये करीब 30 दिनों से लाॅकअप में बंद हैं। ये अनोखा किस्सा इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बंटोर रहा है।

बताया जाता है कि मकर संक्रांति के पर्व पर मुर्गों की लड़ाई ; का खेल चल रहा था। लोग इस पर सट्टा लगा रहे थे। इसकी सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर जा पहुंची और वहां 10 लोगों को धर दबोचा। साथ ही पुलिस ने मुर्गों को भी पकड़ लिया। हालांकि पुलिस के आने से पहले ही वहां से कई लोग रफूचक्कर हो गए थे। कुछ दिनों बाद पुलिस के हिरासत में मौजूद लोग जमानत पर रिहा हो गए, लेकिन बेचारे मुर्गे जेल में ही फंसे रह गए। उन्हें न तो कोई छुड़ाने आया और ना ही किसी ने दावेदारी पेश की। लिहाजा पुलिस ने मुर्गों को सबूत के दौर पर हवालात में रख रखा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्थानीय पुलिस का कहना है कि इन मुर्गों को मामले की सुनवाई के बाद ही छोड़ा जा सकता है। जब अदालत से इन्हें छोड़ने का आदेश मिलेगा तो इनकी बोली लगेगी। सबसे ज्यादा बोली लगाने वाले व्यक्ति को दोनों मुर्गे दे दिए जाएंगे। मालूम हो कि पुलिस ने तेलंगाना के खम्मम से 10 आरोपियों और दो मुर्गों को हिरासत में लिया था। उनके पास से बाइक भी बरामद की गई थी। मामला 10 जनवरी का है। तब से मुर्गे मिदिगोंडा पुलिस स्टेशन में बंद हैं।


केंद्रीय विद्यालय वायु सेना स्थल, बरनाला में वॉक-इन-इंटरव्यू 23 फरवरी से       घोषित हुआ टियर 2 परीक्षा का परिणाम, इस लिंक से देखें सफल उम्मीदवारों की लिस्ट       सीटीईटी आंसर-की इस डायरेक्ट लिंक से करें डाउनलोड       बिहार पुलिस लेडी कॉन्स्टेबल परीक्षा के फाइनल रिजल्ट करें चेक       हरियाणा बोर्ड ने डीएलएड परीक्षा का संशोधित शेड्यूल किया जारी       मैनेजमेंट प्रवेश परीक्षा के नतीजे इस पर जारी, करें चेक       बिहार सरकार का निर्णय, कक्षा 1 से 8 तक के छात्र बिना परीक्षा के होंगे पास       जम्मू विंटर जोन के लिए 12वीं परीक्षा का रिजल्ट जारी       एमबीबीएस फर्स्ट प्रोफेशनल की फाइनल परीक्षा की डेटशीट जारी       10वीं की सोशल साइंस का पेपर लीक होने पर बिहार बोर्ड ने की रद्द की परीक्षा       ऑल इंडिया बार एग्जामिनेशन के लिए आज बंद होगी रजिस्ट्रेशन विंडो       10वीं और 12वीं की परीक्षाओं की तारीखों का ऐलान विधानसभा चुनावों की तिथियों की घोषणा के बाद       हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने क्लर्क लिखित परीक्षा का परिणाम घोषित       अधिकतम और न्यूनतम आयु सीमा में 30 दिनों की छूट दे सकते हैं स्कूल, प्रिंसिपल को करना होगा अप्रोच       ऑल इंडिया बार एग्जामिनेशन स्थगित, आवेदन की तारीख 22 मार्च तक बढ़ी       कामधेनु गोविज्ञान प्रचार प्रसार परीक्षा 2021 स्थगित, राष्ट्रीय कामधेनु आयोग ने जारी किया अपडेट       सहायक अभियोजन अधिकारी प्रारंभिक परीक्षा के ‘आंसर की’ जारी       कल से होनी है जेईई मेन परीक्षा, करें अधिक स्कोर       जेईई मेन परीक्षा के दौरान उम्मीदवार ध्यान में रखें ये कुछ नियम       रेलवे भर्ती बोर्ड ने 'आंसर की' जारी की, दिसंबर और जनवरी में हुए थे मिनिस्टीरियल