दहेज से चककर में पति ने उसे दिया तीन तलाक

दहेज से चककर में पति ने उसे दिया तीन तलाक

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से तीन तलाक का एक मामला प्रकाश में आया है. पीड़िता का आरोप है कि दहेज की माँग पूरी नहीं होने पर पति ने उसे तीन तलाक दे दिया. इसके बाद जेठ के साथ हलाला करने का दबाव बनाया जाने लगा. पीड़िता ने ससुराल में स्वयं को प्रताड़ित किए जाने का भी आरोप लगाया है. पुलिस मुद्दे की छानबीन कर रही है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मामला लखनऊ के सआदतगंज से सामने आया है.

अपनी कम्पलेन में पीड़िता ने बोला है कि, ‘मेरे अब्बा का मृत्यु हो चुका है और घर में सिर्फ माँ है. मेरा विवाह 16 जून 2019 में सूफियान अली उर्फ़ बाबर से हुआ था. विवाह में 5 लाख रुपए बतौर दहेज मांगे गए थे, जो मेरे परिवार वाले नहीं दे पाए. पैसे लाने के लिए ससुराल में मुझे पीटा जाने लगा. मुझे जबरन बासी खाना खाने के लिए मजबूर किया गया. मुझे प्रताड़ित करने वालों में ससुर महबूब अली, जेठ गुरफान और ननद नूर सबा शामिल थी.

पीड़िता ने अपनी कम्पलेन में बताया है कि, ‘कुछ दिनों बाद मेरे शौहर बाबर भी मुझे अपने घर वालों के दबाव में प्रताड़ित करने लगे. इस बीच मैंने एक बेटे को जन्म दिया. मुझे डॉक्टरों ने स्वयं का ख्याल रखने के लिए कहा, लेकिन इसके बाद भी 22 अप्रैल 2022 को मेरे शौहर ने मुझे 3 तलाक दे कर घर से बाहर निकाल दिया. मेरी माँ ने कुछ लोगों के साथ मुझे ससुराल में वापस भेजने के लिए पंचायत बुलाई. ससुराल वालों ने मुझे वापस लेने के लिए जेठ संग हलाला करने की शर्त रखी, लेकिन मैं इसके लिए तैयार नहीं हूँ.

पीड़िता ने इस मुद्दे की कम्पलेन लखनऊ के सआदतगंज थाने में की है. इंस्पेक्टर सआदतगंज सिद्धार्थ मिश्रा के अनुसार, ‘पीड़िता की कम्पलेन पर शौहर सूफ़ियान, उसके अब्बा महबूब अली, उसके बड़े भाई गुफरान समेत दो स्त्रियों पर प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. मुद्दे की छानबीन की जा रही है.