बुल्ली बाई ऐप: कोरोना की चपेट में आरोपी विशाल, मयंक-श्वेता की भी पुलिस कस्टडी बढ़ी

बुल्ली बाई ऐप: कोरोना की चपेट में आरोपी विशाल, मयंक-श्वेता की भी पुलिस कस्टडी बढ़ी

मुंबई: बुल्ली बाई ऐप मामले में आरोपी श्वेता सिंह और मयंक रावत की पुलिस कस्टडी बांद्रा कोर्ट ने 14 जनवरी तक बढ़ा दी है। महाराष्ट्र पुलिस ने उत्तराखंड के रुद्रपुर से 18 वर्षीय श्वेता सिंह को गिरफ्तार किया था। जबकि मयंक रावत नाम के युवक को पुलिस ने उत्तराखंड के कोटद्वार से गिरफ्तार किया था। मयंक रावत दिल्ली के जाकिर हुसैन कॉलेज में B.Sc का छात्र है।उधर बुल्ली बाई ऐप मामले में गिरफ्तार पहला आरोपी विशाल कुमार कोरोना की चपेट में आ गया है। सोमवार को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। उसे मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया था। विशाल झा को मेडिकल ऑब्जर्वेशन के तहत न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

इस आधार पर मिली कस्टडी

मुंबई पुलिस ने बुल्ली बाई ऐप मामले में आरोपियों की और हिरासत की मांग इस आधार पर की कि वे प्रोटॉन मेल का उपयोग कर रहे थे, जिसके आईपी एड्रेस से अंकित का पता लगाया जा सकता है। सोशल प्लेटफॉर्म पर आपत्तिजनक सामग्री फैलाने के लिए आरोपी 10-12 मल्टीपल अकाउंट का इस्तेमाल कर रहे थे। सभी खाते प्रॉक्सी और छिपे हुए आईपी पते थे जो जांच को गुमराह करने के लिए थे। इसलिए, आरोपी जानबूझकर अपराध का हिस्सा थे जो जांच की गुंजाइश छोड़ देता है कि क्या उनका ऑपरेशन किसी और द्वारा किया गया था।

क्या है मामला?

पूरा मामला बुल्ली बाई ऐप नीलामी के लिए बिना इजाजत सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं के छेड़छाड़ किये हुए चित्र और विवरण डालने का है। इसको लेकर दिल्ली और मुंबई पुलिस की ओर से जांच जारी है। वहीं एक साल से भी कम समय में ऐसा दूसरी बार हुआ है। पिछले साल सुल्ली डील्स नामक ऐप पर इसी प्रकार की सामग्री डाली गई थी। इस मामले में अब जाकर पहली गिरफ्तारी हुई है।


75 वर्षीय पति ने 65 वर्ष की पत्नी की कर दी हत्या

75 वर्षीय पति ने 65 वर्ष की पत्नी की कर दी हत्या

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में 75 वर्षीय पति ने 65 वर्ष की पत्नी को मृत्यु की मर्डर कर दी. आरोपी पति को अपनी पत्नी के चरित्र पर शक था. सुबह के वक़्त जब ग्रामीणों को इस बात की जानकारी मिली, तो मौके पर पहुंची पुलिस ने मृत शरीर को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और चारपाई के नीचे छिपे आरोपी पति को अरेस्ट कर लिया. दरअसल, असोथर थाना क्षेत्र में 75 वर्षीय पति अपनी 65 वर्ष की पत्नी की मर्डर करने के बाद चारपाई के नीचे छिप गया. सुबह पहर जब ग्रामीणों घर के पास से गुजरे तो देखा की स्त्री की मृत शरीर चारपाई पर पड़ी हुई है. जिसके बाद गाँव वालों ने इस घटना की सूचना पुलिस को द
बुधवार की रात लगभग आठ बजे शिवबरन खाना खाकर घर के बाहर बरामदे में सो रहा था. वहीं साइड में चारपाई पर उसकी पत्नी भी सो रही थी. उसने पत्नी पर सोते वक़्त सिर और गले पर कुल्हाड़ी से कई वार किए, जिससे पत्नी की मौके पर ही मृत्यु हो गई. गुरुवार की सुबह जब पड़ोसी वहां से निकले, तो शिवबरन चारपाई के नीचे छिप कर बैठा देखा. पड़ोसी जब चारपाई के निकट पहुंचे तो बुजुर्ग स्त्री का मृत शरीर पड़ा देख सन्न रह गए. स्त्री के गले मे धारदार हथियार से वार किये जाने के चिन्ह पाए गए थे. ग्रामीणों ने घर के भीतर सो रहे बेटे को घटना की जानकारी देते हुए पुलिस को सूचित किया, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी पति को हिरासत में लेकर मृत शरीर को पोस्टमार्टम के लिए पहुंचा दिया.

पूछताछ के दौरान आरोपी पति ने बताया कि स्त्री किसी के घर भी जाती थी, तो वह (पति) उसके साथ जाता था और इसी बात को लेकर प्रत्येक दिन दोनों के बीच टकराव और हाथापाई भी हुआ करता था, जिससे आजिज आकर उसने अपने पत्नी को धारदार हथियार से वार कर उसकी मर्डर कर दी. दोनों के 7 बच्चे हैं, जिसमें से पांच का शादी हो चुका है. पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने बताया कि असोथर थाना क्षेत्र के सरवल गांव में पति ने पत्नी को धारदार हथियार से वार कर मार डाला, जांच के दौरान यह पता चला की वह अपनी पत्नी पर शक करता था, जिसको लेकर उसने अपनी पत्नी की मर्डर कर डाली. पुलिस ने हत्यारे पति को अरेस्ट कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है.