गलत दवा खाने से बच्चों के उगे भालू जैसे बाल

गलत दवा खाने से बच्चों के उगे भालू जैसे बाल
पूरे विश्व (Worldwide) आए दिन कई ऐसे अजीबोगरीब मामलों (Weird Cases) के बारे में सुनने को मिलता है, जिनके बारे में जानकर आश्चर्य (Shocking) होती है ऐसा ही एक विचित्र केस स्पेन (Spain) में सामने आया है, जहां पर एक गलती की वजह से लगभग 20 बच्चे भालू (Beer) की तरह दिखने लगे हैं इन बच्चों के पूरे शरीर में अनचाहे बाल उग आए हैं, इसकी वजह बनी है एक गलत दवा (Wrong Medicine) यह घटना स्पेन के कैंटाब्रिया के टोरेलावेग सिटी की है

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लगभग 2 वर्ष पहले परिजन अपने बच्चों के पेट दर्द और गैस की कम्पलेन लेकर भिन्न-भिन्न डॉक्टरों के पास पहुंचे थे ऐसे में डॉक्टरों ने उन्हें ओमेप्राजोल नाम की दवा सजेस्ट की मेडिकल शॉप से परिजनों ने इस दवा को खरीदा और बच्चों को खिला दिया इसके बाद बच्चे ठीक हो गए, लेकिन यही से बच्चों के साथ-साथ परिजनों की कठिनाई प्रारम्भ हो गई जिन बच्चों ने यह दवाई खाई थी, उनके शरीर पर अनचाहे बाल उगने लगे थे अब तक ऐसे 19 बच्चे सामने आ चुके हैं कम्पलेन के बाद लोकल प्रशासन ने इसकी जाँच की और बोला कि इन बच्चों को ओमेप्राजोल नाम की दवा की स्थान गलती से माइनोजाइडिल (Minoxidil) का खुराक दे दिया गया था

किस कार्य आती है माइनोजाइडिल?
दरअसल, माइनोजाइडिल बाल उगाने की दवा है, जिसे ओमेप्राजोल की स्थान गलती से बच्चों को दे दिया गया था दवा के दुष्प्रभाव से ये बच्चे हाइपरट्रिचोसिस (Hypertrichosis) नामक रोग के शिकार हो गए हैं इस रोग के कारण ही शरीर पर अनचाहे बाल उगने लगते हैं इन बच्चों के बाल लगातार बढ़ रहे हैं इस घटना से नाराज बच्चों के पैरेंट्स ने दवा बनाने वाली कंपनी के विरूद्ध सिविल और अपराधी केस भी दर्ज करवाया है
रिपोर्ट्स की मानें तो दवा कंपनी माइनोजाइडिल ने अपने सीरप की बोतलों पर पेट दर्द और गैस में उपयोग की जाने वाली ओमेप्राजोल नाम की दवा का लेबल लगाया इसके बाद कैंटाब्रिया अतिरिक्त वैलेंसिया के कई दुकानों पर उसे बांट दिया था पीड़ित बच्चों ने लगभग 1 वर्ष पहले इन दवाइयों का सेवन किया था अब परिजन सरकार से मुआवजे की मांग कर रहे हैं इसे 'वरवूल्फ सिंड्रोम' बोला जा रहा है

जुलाई 2019 में आया था पहला मामला
रिपोर्ट्स के मुताबिक, जुलाई 2019 में पहली बार इस तरह का केस सामने आया था जाँच में पता चला कि लेबलिंग के कारण यह गड़बड़ी हुई है तो ऑफिसरों ने सारी दवाइयां मार्केट से वापस मंगा ली इस बारे में मेडिसिन और हेल्थ प्रोडक्ट से जुड़ी स्पेनिश एजेंसी (AEMPS) का बोलना है कि पिछले वर्ष सितंबर में ऐसे 12 बच्चे सामने आए थे, जो पूरी तरह ठीक हो चुके हैं इन्हें ठीक होने में लगभग 1 से 5 महीने तक लगे वहीं, अन्य बच्चों का उपचार चल रहा है, वह भी शीघ्र ठीक हो जाएंगे

देखें क्या हुआ-जब सांड खराब मोबाइल बेचने वाले को सबक सिखाने पहुंच गया दूकान...

देखें क्या हुआ-जब सांड खराब मोबाइल बेचने वाले को सबक सिखाने पहुंच गया दूकान...

सोशल मीडिया पर एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है, जिसे देख आप हैरान हो जाएंगे। इस वीडियो में सांड की खरीददारी करने के तरीके से मार्केट में अफरातफरी मच गई। सांड के आतंक से बाजार में मोबाइल दूकानों को अधिक क्षति हुई। वीडियो देख ऐसा लगता है कि सांड मोबाइल बेचने वाले से अधिक गुस्से में है। मानो, सांड ने हाल में कोई मोबाइल खरीदा है और वह मोबाइल या उसका चार्जर खराब हो गया है। इससे सांड रोष में आ गया है और बेचने वाले को सबक सिखाना चाहता है। वीडियो में एक क्षण ऐसा भी आता है, जब सांड दुकान पर आतंक मचाने के बाद कुछ पल के लिए रुकता है और मंथन करता है। मानो वह उस शख्स को ढूंढता है, जिससे उसने मोबाइल खरीदी है।


इस वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि किसी बाजार में एक सांड भटकता हुआ आ जाता है। सांड खाने-पीने की दूकान पर न जाकर मोबाइल की दूकान में घुस जाता है। दादागिरी के अंदाज में मोबाइल काउंटर को पलट देता है और गुर्रा कर इधर-उधर देखता है। सारे स्टाफ डरकर दुबक जाते हैं। फिर आगे बढ़कर सांड मोबाइल को देखने लगता है।


उस समय सांड को कुछ समझ नहीं आता है, तो वह दूकान से बाहर जाने लगता है। फिर कुछ सोचकर वह दोबारा से लौटकर आता है और काउंटर को जोरदार टक्कर मारता है। एक स्टाफ सांड को गीदड़भभकी देने की कोशिश करता है। हालांकि, सांड व्यक्ति को कुछ नहीं कहता है। कुछ देर रुक सांड दूकान से निकलकर बाजार में लापता हो जाता है।

भारत में सांड के आतंक के किस्से अक्सर सुनने और देखने को मिलता है। इस वीडियो को UncleRandom नामक शख्स ने सोशल मीडिया ट्विटर पर अपने अकांउट से कई वीडियो शेयर किया है। इसके कैप्शन में उन्होंने लिखा है-चार्जर। इस वीडियो को खबर लिखे जाने तक तकरीबन हजार बार देखा गया है।