आखिर जलेबी और इमरती के बीच क्या अंतर है, जानें

आखिर जलेबी और इमरती के बीच क्या अंतर है, जानें

आखिर मिठाई खाना किसको पसंद नहीं होता है। इनमे से जलेबी और इमरती दो ऐसी मिठाईयां जिनकी चर्चा मात्र से मुंह में पानी आ जाता है, भारत समेत कई अन्य देशों में लोकप्रिय मिठाईयां हैं। जलेबी और इमरती दोनों न केवल देखने में एक जैसे दिखते हैं बल्कि दोनों ही चीनी की चाशनी में डुबोकर बनाये जाते हैं। लेकिन ये दोनों एकदम अलग अलग मिठाइयां हैं।

जलेबी और इमरती में क्या अंतर है:

# जलेबी का आकार गोल होता है किन्तु यह अनियमित आकार का होता है किन्तु इमरती का आकार गोल, सुघड़ और फूल की तरह होता है।


# जलेबी कड़क और करारी होती है वहीँ इमरती नर्म और खुशबूदार होती है। जलेबी का स्वाद गर्म गर्म खाने में है जबकि इमरती गर्म और ठन्डे दोनों में जायकेदार होती है।

# जलेबी मैदे के घोल से बनायीं जाती है वहीँ इमरती उड़द की दाल को पीसकर बनायीं जाती है। जलेबी की तुलना में इमरती को ज्यादा स्वास्थकर माना जाता है।

# जलेबी की शुरुवात मध्यपूर्व के देशों से विशेषकर ईरान से माना जाता है वहीँ इमरती की शुरुवात उत्तर भारत से माना जाता है।

# जलेबी को बनाने के लिए मैदे में खमीर का उठना आवश्यक माना जाता है जबकि इमरती को बनाने के लिए उड़द के दाल में खमीर की आवश्यकता नहीं होती है।


# जलेबी बनाने में कोई रंग आदि का प्रयोग नहीं किया जाता है जबकि इमरती बनाने में रंग के लिए केशर का प्रयोग किया जाता है।


75 वर्षीय पति ने 65 वर्ष की पत्नी की कर दी हत्या

75 वर्षीय पति ने 65 वर्ष की पत्नी की कर दी हत्या

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में 75 वर्षीय पति ने 65 वर्ष की पत्नी को मृत्यु की मर्डर कर दी. आरोपी पति को अपनी पत्नी के चरित्र पर शक था. सुबह के वक़्त जब ग्रामीणों को इस बात की जानकारी मिली, तो मौके पर पहुंची पुलिस ने मृत शरीर को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और चारपाई के नीचे छिपे आरोपी पति को अरेस्ट कर लिया. दरअसल, असोथर थाना क्षेत्र में 75 वर्षीय पति अपनी 65 वर्ष की पत्नी की मर्डर करने के बाद चारपाई के नीचे छिप गया. सुबह पहर जब ग्रामीणों घर के पास से गुजरे तो देखा की स्त्री की मृत शरीर चारपाई पर पड़ी हुई है. जिसके बाद गाँव वालों ने इस घटना की सूचना पुलिस को द
बुधवार की रात लगभग आठ बजे शिवबरन खाना खाकर घर के बाहर बरामदे में सो रहा था. वहीं साइड में चारपाई पर उसकी पत्नी भी सो रही थी. उसने पत्नी पर सोते वक़्त सिर और गले पर कुल्हाड़ी से कई वार किए, जिससे पत्नी की मौके पर ही मृत्यु हो गई. गुरुवार की सुबह जब पड़ोसी वहां से निकले, तो शिवबरन चारपाई के नीचे छिप कर बैठा देखा. पड़ोसी जब चारपाई के निकट पहुंचे तो बुजुर्ग स्त्री का मृत शरीर पड़ा देख सन्न रह गए. स्त्री के गले मे धारदार हथियार से वार किये जाने के चिन्ह पाए गए थे. ग्रामीणों ने घर के भीतर सो रहे बेटे को घटना की जानकारी देते हुए पुलिस को सूचित किया, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी पति को हिरासत में लेकर मृत शरीर को पोस्टमार्टम के लिए पहुंचा दिया.

पूछताछ के दौरान आरोपी पति ने बताया कि स्त्री किसी के घर भी जाती थी, तो वह (पति) उसके साथ जाता था और इसी बात को लेकर प्रत्येक दिन दोनों के बीच टकराव और हाथापाई भी हुआ करता था, जिससे आजिज आकर उसने अपने पत्नी को धारदार हथियार से वार कर उसकी मर्डर कर दी. दोनों के 7 बच्चे हैं, जिसमें से पांच का शादी हो चुका है. पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने बताया कि असोथर थाना क्षेत्र के सरवल गांव में पति ने पत्नी को धारदार हथियार से वार कर मार डाला, जांच के दौरान यह पता चला की वह अपनी पत्नी पर शक करता था, जिसको लेकर उसने अपनी पत्नी की मर्डर कर डाली. पुलिस ने हत्यारे पति को अरेस्ट कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है.