वैज्ञानिकों को भी हैरान कर देते हैं इन ग्रहों पर स्ठित विशालकाय ज्वालामुखी

वैज्ञानिकों को भी हैरान कर देते हैं इन ग्रहों पर स्ठित विशालकाय ज्वालामुखी

ऐसा माना जाता है कि धरती पर जो मजबूत जमीन बनी है, वो ज्वालामुखी से निकले गर्म लावा के सतह पर गिरने और उनके जम जाने की वजह से बनी है। ज्वालामुखियों की वजह से कई द्वीप भी बने हैं। वैसे तो पृथ्वी पर कई ज्वालामुखी हैं, जिनमें कुछ सक्रिय तो कुछ निष्क्रिय हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि ज्वालामुखी सिर्फ पृथ्वी ही नहीं बल्कि सौरमंडल के दूसरे ग्रहों-उपग्रहों पर भी मौजूद हैं। हालांकि उनमें बहुत सारे ऐसे हैं, जो निष्क्रिय हैं और उनमें लाखों सालों से विस्फोट नहीं हुआ है और आगे भी कभी होने की संभावना कम ही नजर आती है।

सूर्य के सबसे नजदीक बुध ग्रह है। इसकी सतह पर कई चट्टानें और गड्ढे हैं, जिनको लेकर ऐसा माना जाता है कि उनका निर्माण ज्वालामुखी की वजह से हुआ है। वैज्ञानिकों का मानना है कि इस ग्रह पर कभी बहुत सारे ज्वालामुखी थे, लेकिन बाद में सब निष्क्रिय हो गए और फिर वो कभी सक्रिय हुए ही नहीं। 

शुक्र ग्रह को सौरमंडल के सबसे रहस्यमय ग्रहों में से एक माना जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसकी सतह को ऊपर से सीधे देख पाना असंभव है। दरअसल, इसका आसमान घने बादलों से घिरा है और वो बादल कभी टूटते ही नहीं हैं। ऐसा माना जाता है कि इस ग्रह पर कई ज्वालामुखी हैं, जिनमें कुछ सक्रिय भी हैं। असल में यह एक गर्म ग्रह है और इसकी एक वजह ज्वालामुखियों का सक्रिय होना भी है। 

मंगल ग्रह के बारे में ऐसा माना जाता है कि अतीत में यहां पानी मौजूद था और शायद किसी तरह का जीवन भी हो, लेकिन अब तक इस बात के पुख्ता प्रमाण नहीं मिल पाए हैं। इस ग्रह पर पहले कभी ज्वालामुखी मौजूद थे, इस बात के प्रमाण वैज्ञानिकों के पास हैं। वैज्ञानिकों के मुताबिक, मंगल पर मौजूद ओलंपस मोन्स सौर मंडल का सबसे बड़ा ज्ञात ज्वालामुखी है, जिसकी ऊंचाई करीब 25 किलोमीटर है यानी पृथ्वी के सबसे ऊंचे पहाड़ माउंट एवरेस्ट से भी तीन गुना ऊंचा। हालांकि यह लाखों सालों से निष्क्रिय है और शायद आगे भी यह कभी सक्रिय न हो। 

क्या आप जानते हैं कि पृथ्वी के एकमात्र प्राकृतिक उपग्रह चंद्रमा पर भी कभी ज्वालामुखी मौजूद थे, जो सक्रिय थे। हालांकि अब नहीं हैं। वैज्ञानिकों के पास इसके पुख्ता सबूत भी हैं। ऐसा माना जाता है कि चंद्रमा पर पिघले हुए लावा से बना विशाल मैदानी इलाका है, जिसे मारिया कहा जाता है। 


यहां अस्थि कलश के लॉकर भी हुए हाउसफुल, मोक्ष कलश योजना से जाएंगे हरिद्वार

यहां अस्थि कलश के लॉकर भी हुए हाउसफुल, मोक्ष कलश योजना से जाएंगे हरिद्वार

इन दिनों कोरोना महामारी में लोगों की मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। श्मशान घाटों में शवों को जलाने के लिए लगी कतारों के बीच सरहदी बाड़मेर के श्मशान घाट में अस्थि कलश के लॉकर अब हाउसफुल हो चुके हैं। लंबे समय से गंगा के पवित्र जल का इंतजार कर रही यह अस्थियां अब मोक्ष कलश योजना से हरिद्वार जाएगी।

अस्थि कलश के लॉकर भी हुए हाउसफुल

कोविड-19 महामारी में श्मशान घाटों में जगह कम पड़ रही है और लोग अपनों के शवों को लेकर घंटों इंतजार कर रहे हैं। सरहदी बाड़मेर जिला मुख्यालय के श्मशान घाट का आलम यह है कि यहां जन अनुशासन पखवाड़े के बाद से 77 शवों को जलाया गया है। जिनमें से 50 फीसदी कोविड संक्रमण की वजह से जान गंवाने वाले लोग थे। श्मशान घाट में बाड़मेर में अस्थि कलश के लॉकर अब हाउसफुल हो चले हैं।


मोक्ष कलश योजना से जाएंगे हरिद्वार

अब हालात ऐसे हो गए हैं कि अस्थियों को रखने के लिए श्मसान विकास समिति के पास लॉकर नहीं हैं। ऐसे में लकड़ी के संदूक में ही अस्थियों को रखा जा रहा है। लंबे समय से श्मशान के लॉकर में पड़ी अस्थियां हरिद्वार और गंगा के पवित्र पानी का इंतजार कर रही हैं। ऐसे में राजस्थान सरकार की मोक्ष कलश योजना 2020 के तहत राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम की नियमित एक्सप्रेस बस में हरिद्वार जाने व आने के लिये मोक्ष कलश के साथ दो यात्रियों को निःशुल्क यात्रा की अनुमति 5 मई से दी गई है।


इस गांव में पिछले 9 सालों से नहीं पैदा हुआ कोई लड़का, लड़का होने पर मिलता है इनाम       यहां अस्थि कलश के लॉकर भी हुए हाउसफुल, मोक्ष कलश योजना से जाएंगे हरिद्वार       22 बच्चों की मां ने औनलाइन शेयर किया दर्द       यहां पति के मरते ही नर्क हो जाती है महिला की जिंदगी       हाथ लगा 11 हजार वर्ष पुराना अनमोल 'खजाना', अमेरिका में गोताखोरों की खुली किस्‍मत       सेंट्रल रेलवे ने सीनियर रेजिडेंट के पदों पर निकली वैकेंसी, ऐसे होगा सेलेक्शन       लेखा विभाग गोवा में निकली 109 एकाउंटेंट की भर्ती, इस दिन से करें ऑनलाइन आवेदन       सीडैक नोएडा में 119 प्रोजेक्ट मैनेजर और इंजीनियर पदों के लिए आवेदन का कल आखिरी दिन       नेशनल एंट्रेंस स्क्रीनिंग टेस्ट के लिए आवेदन की लास्ट डेट नजदीक       डीएसएसएसबी भर्ती परीक्षा स्थगित, DSSSB ने dsssb.delhi.gov.in पर जारी किया नोटिफिकेशन       नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर रेलवे में इन पदों पर निकली वैकेंसी, 11 मई को होगा इंटरव्यू       आईआईटी मंडी में जूनियर इंजीनियर और स्पोर्ट्स ऑफिसर सहित अन्य 43 पदों पर निकली भर्तियां       टाटा मेमोरियल सेंटर, वाराणसी में निकली पंप ऑपरेटर और फायरमैन की भर्ती       यहां निकली है राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की भर्ती, 166 पदों के लिए आवेदन 31 मई तक       ऑयल इंडिया लिमिटेड में निकली 119 असिस्टेंट मेकेनिक और अन्य पदों की भर्ती       कोरोना कहर के चलते यूजीसी ने लिया बड़ा फैसला, मई में होने वाली सभी ऑफलाइन परीक्षाओं पर लगाई रोक       पीजीटी के पदों के लिए परीक्षा की तारीखें घोषित       आईआईटी दिल्ली ने गेट काउंसलिंग की स्थगित, यहां पढ़ें पूरी जानकारी       एडमिशन टेस्ट के लिए 29 मई तक आवेदन का मौका, ऐसे करें अप्लाई       फॉरेन मेडिकल ग्रेजुएट एग्जामिनेशन रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख आज