PM Kisan Yojana: नौवीं किस्त का कर रहे इंतजार, तो जानिए आपके अकाउंट में कब आएंगे 2,000 रुपये

PM Kisan Yojana: नौवीं किस्त का कर रहे इंतजार, तो जानिए आपके अकाउंट में कब आएंगे 2,000 रुपये

अगर आप प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) के लाभार्थी हैं तो बेसब्री से इस स्कीम की नौवीं किस्त (PM Kisan 9th Installment) की प्रतीक्षा कर रहे होंगे। दरअसल, पीएम किसान योजना केंद्र सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजनाओं में शुमार है। इस स्कीम के तहत केंद्र सरकार देश के करीब 12 करोड़ किसानों के खातों में हर वित्त वर्ष में कुल छह हजार रुपये भेजती है। सरकार तीन बराबर किस्तों (दो-दो हजार रुपये की तीन किस्त) में किसानों को यह धनराशि भेजती है।

जानिए कब आएगी नौवीं किस्त

PM Kisan की किस्त हर चार माह में एक बार किसानों के खातों में सीधे आती है। इस तरह देखा जाए तो अप्रैल से जुलाई के बीच पहली किस्त, अगस्त से नवंबर के बीच दूसरी और दिसंबर से मार्च के बीच तीसरी किस्त सरकार किसानों के खातों में भेजती है। इस लिहाज से देखा जाए तो अगस्त से नवंबर के बीच कभी भी केंद्र सरकार नौवीं किस्त किसानों के खाते में भेज सकती है। हालांकि, आम तौर पर देखा जाता है कि सरकार हर चार माह के अंतराल पर इंस्टॉलमेंट भेज देती है। इस तरह इस बात की संभावना काफी प्रबल है कि किसानों को अगस्त में इस स्कीम की नौवीं किस्त मिल जाएगी।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए किसानों के अकाउंट में ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करते हैं। पीएम मोदी द्वारा इंस्टॉलमेंट रिलीज किए जाने के बाद अगले कुछ दिनों में किसानों के खातों में रकम पहुंच जाती है। इसकी वजह यह है कि केंद्र द्वारा पैसा रिलीज किए जाने के बाद एक FTO जेनरेट होता है। ऐसा राज्य सरकार द्वारा सभी तरह से लाभार्थी से जुड़े विवरण की पुष्टि के बाद किया जाता है। FTO जेनरेट होने के कुछ दिन बाद पैसे बैंक खाते में आ जाते हैं।


PM Kisan की वेबसाइट से चेक कर सकते हैं स्टेटस

सरकार द्वारा इंस्टॉलमेंट रिलीज किए जाने के बाद आप PM Kisan की वेबसाइट के जरिए स्टेटस चेक कर सकते हैं। आप PM Kisan की ऑफिशियल वेबसाइट (https://pmkisan.gov.in/) पर 'Farmers Corner' के अंतर्गत 'Beneficiary Status' के जरिए यह चेक कर सकते हैं।

पीएम किसान के लिए इस प्रकार कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन

अगर आप इस स्कीम की अहर्ता शर्तों को पूरा करते हैं तो फटाफट रजिस्ट्रेशन करा लीजिए। इस स्कीम के लिए अप्लाई करना बहुत आसान है। आप इस स्कीम के लिए घर बैठे ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। आप पंचायत सचिव या पटवारी या स्थानीय कॉमन सर्विस सेंटर के जरिये इस योजना के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

पीएम किसान के लिए अप्लाई करना बेहद आसान है। इस स्कीम में आप घर बैठे ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। इसके अलावा आप पंचायत सचिव या पटवारी या स्थानीय कॉमन सर्विस सेंटर के जरिये इस योजना के लिए अप्लाई कर सकते हैं।


किसानों के लिए खुशखबरी: सरकार की बड़ी योजना, अब मिलेगी सबको राहत

किसानों के लिए खुशखबरी: सरकार की बड़ी योजना, अब मिलेगी सबको राहत

कृषि कानूनों का लेकर जारी किसानों की नाराजगी के बीच उनके लिए खुशखबरी है। केंद्र सरकार की योजनाओं के तहत 12 लाख किसानों को लाभ मिलने वाला है। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभर्थियों को किसान क्रेडिट कार्ड देने जा रही है। ये लाभ खासकर यूपी के किसानों के लिए है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के 12 लाख लाभर्थियों को KCC मिलने वाला
दरअसल, उत्तर प्रदेश के निवासी किसान, जो कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के पात्र हैं, को योगी सरकार किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) जारी करने जा रही है। इसके लिए लाभार्थी आसानी से आवेदन कर सकते हैं। इस योजना से 12 लाख लोगों को फायदा होगा। यूपी सरकार और केंद्र सरकार के बीच इस बाबत बातचीत चल रही है।

मौजूदा समय पर यूपी में प्रधानमंत्री-किसान सम्मान निधि योजना के कुल 2.43 करोड़ लाभार्थी हैं। इनमें से 1.53 करोड़ किसानों ने केसीसी बनवा लिया है, जबकि, करीब 90 लाख किसानों ने केसीसी के लिए आवेदन भी नहीं किया है।

किसान क्रेडिट कार्ड क्या है?
लाभार्थियों के लिए ये जानना जरुरी है कि किसान क्रेडिट कार्ड होता क्या है, और इससे आपको क्या फायदा मिलेगा। बैंक क्रेडिट कार्ड की तरह ही किसान क्रेडिट कार्ड होता है, जो किसानों को खेती के लिए खाद, बीज, कीटनाशक आदि खरीदने के लिए आसानी से लोन देता है। ख़ास बात ये होती है कि इस कार्ड से लोन बहुत सस्ता मिलता है। 2 से 4 फीसदी की दर से ही ब्याज देना होता है। हालंकि इसके इस्तेमाल को लेकर एक शर्त ये होती है कि समय पर लोन का पुनर्भुगतान कर दिया जाए।

ये भी जानकारी देनी होती है कि किसी अन्य बैंक या शाखा से कोई और किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बनवाया है।

फॉर्म भरने के लिए आवेदक को आईडी प्रूफ जैसे-वोटर कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस चाहिए होता है। अड्रेस प्रूफ भी इनका इस्तेमाल होता है।

किसान क्रेडिट कार्ड को आवेदक किसी भी को-ऑपरेटिव बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक(RRB) से हासिल कर सकते हैं।

इसके अलावा SBI, BOI और IDBI बैंक से भी KCC लिया जा सकता है।

किसान क्रेडिट कार्ड मिलेगा किसे?
KCC केवल किसानी और खेती करने वालो को ही नहीं मिलता, बल्कि पशुपालन और मछलीपालन करने वालों को भी 2 लाख रुपये तक का कर्ज लेने की सहुलियत देता है। वह जमीनी खेती करता हो या न करता हो, लेकिन खेती-किसानी, मछलीपालन और पशुपालन से जुड़ा कोई भी व्यक्ति इसका लाभ ले सकता है।

इसके लिए उम्र भी निर्धारित है। कम से कम 18 साल और अधिकतम 75 साल के लोग आवेदन कर सकते हैं। अगर किसान की उम्र 60 साल से अधिक है तो एक को-अप्लीकेंट भी लगेगा, जिसकी उम्र 60 से कम हो।