अलीगढ़ मंडल की विकास की धुरी बनेगा राजा महेन्‍द्र प्रताप राज्‍य विश्‍वविद्यालय : सीएम योगी

अलीगढ़ मंडल की विकास की धुरी बनेगा राजा महेन्‍द्र प्रताप राज्‍य विश्‍वविद्यालय : सीएम योगी

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि अलीगढ़ में निर्माणधीन स्‍वतंत्रता संग्राम सेनानी व शिक्षाविद राजा महेन्‍द्र प्रताप राज्‍य विश्‍वविद्यालय अलीगढ़ मंडल के लिए विकास की धुरी साबित होगा। विश्‍वविद्यालय से एटा, हाथरस, कासगंज और अलीगढ़ के 400 से अधिक डिग्री कॉलेज इससे सम्‍बद्ध होंगे। यह विश्‍वविद्यालय इन जिलों के युवाओं के लिए आधुनिक शिक्षा व रोजगार का केंद्र बनेगा। अलीगढ़ में विश्‍वविद्यालय के स्‍थलीय निरीक्षण के बाद सीएम योगी ने कहा प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 14 सितंबर को विश्‍वविद्यालय का शिलान्‍यास करेंगे। यह अलीगढ़ मंडल के लिए बड़ा तोहफा होगा।

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि देश-विदेश में लोकप्रिय नेता प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 14 सितम्‍बर को अलीगढ़ में राजा महेन्‍द्र प्रताप राज्‍य विश्‍वविद्यालय का शिलान्‍यास करेंगे। यह विश्‍वविद्यालय रोजगार, स्किल डेवलपमेंट समेत अन्‍य चीजों में विकास की धुरी साबित होगा। मुख्‍यमंत्री ने कहा अलीगढ़ नोड में डिफेंस कारिडोर के लिए 200 एकड़ जमीन आरक्षित की गई है। यहां 19 निवेशक 1500 करोड़ रुपये का निवेश करेंगे। यहां के युवाओं को बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर मिलेंगे।


मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि अभी तक अलीगढ़ के ताले देश-विदेश में मशहूर हैं, डिफेंस कारिडोर जिले को एक और नई पहचान देगा। उन्‍होंने कहा कि अलीगढ़ व आगरा मंडल के निवासी पीएम मोदी का स्वागत करने के लिए तैयार हैं। सीएम योगी ने कहा कि राजा महेन्‍द्र प्रताप विश्‍वविद्यालय युवाओं को अत्‍याधुनिक शिक्षा के साथ रोजगार देने का काम करेगा। अलीगढ़ मंडल के युवाओं को डिफेंस कारिडोर के जरिए रोजगार मिल सकेगा। इस दौरान मुख्‍यमंत्री ने डिफेंस कारिडोर व राजा महेन्‍द्र प्रताप राज्‍य विश्‍वविद्यालय स्‍थल का निरीक्षण भी किया। सीएम ने कहा कि पीएम दो अनमोल चीजों का तोहफा अलीगढ़ मंडल को देंगे।


मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने थाना दिवस, तहसील दिवस पर आने वाली जनशिकायतों के निस्‍तारण समेत आईजीआरएस पोर्टल पर की जा रही शिकायतों की समीक्षा भी की। सीएम ने निर्देश दिए कि आइजीआरएस, तहसीलों और थानों पर प्राप्त शिकायतों के निस्‍तारण व लंबित प्रकरणों की विस्‍तृत रिपोर्ट मुख्‍यमंत्री कार्यालय को प्रस्‍तुत की जाए। साथ ही शिकायतकर्ता लोगों की संतुष्टि का स्‍तर क्‍या है, इसकी जानकारी भी दी जाए।


थाना व तहसील दिवस पर कितनी हुई फरियादियों की सुनवाई, सीएम योगी ने तलब की रिपोर्ट

थाना व तहसील दिवस पर कितनी हुई फरियादियों की सुनवाई, सीएम योगी ने तलब की रिपोर्ट

यूपी में आम आदमी की फरियाद को अनसुना करने वाले अधिकारियों के बुरे दिनों की शुरुआत होने जा रही है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी थानों और तहसीलों पर लंबित शिकायतों का ब्यौरा तलब किया है। जिलेवार तैयार हो रही इस रिपोर्ट में थाना और तहसील दिवस में आईं शिकायतों के आधार पर एक-एक थाने और तहसील की कार्यपद्धति का आकलन होगा। साथ ही जनता-दर्शन और आइजीआरएस पोर्टल पर आईं समस्याओं को भी रिपोर्ट में शामिल किया जा रहा है। यह जिला और विभागवार रिपोर्ट फील्ड में तैनात अधिकारियों के प्रदर्शन की गुणवत्ता का मानक बनेगा। मुख्यमंत्री खुद इस बाबत जिलाधिकारियों और पुलिस कप्तानों के साथ समीक्षा करेंगे, जिसके बाद लापरवाह अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जन शिकायतों के समाधान में तेजी लाने के लिए आइजीआरएस तथा थाना व तहसील दिवस में आई शिकायतों के निस्तारण और लंबित मामलों की विस्तृत रिपोर्ट तलब की है। उन्होंने इसे मुख्यमंत्री कार्यालय को उपलब्ध कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। सीएम योगी ने इस रिपोर्ट में यह विवरण भी शामिल करने को कहा है कि शिकायतकर्ता की संतुष्टि का स्तर क्या रहा।

जन शिकायतों के निस्तारण को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार गंभीरता बरत रहे हैं। कुछ समय पहले ही उन्होंने समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली (आइजीआरएस) सहित थाना और तहसील दिवस पर आने वाली शिकायतों का निस्तारण प्राथमिकता पर करने के निर्देश दिए थे। सीएम योगी ने आवेदन देने के पांच दिन के अंदर निवारण हो जाने की हिदायत देते हुए कहा था कि किसी को दोबारा आवेदन न देना पड़े। बुधवार को अपने सरकारी आवास पर आयोजित उच्चस्तरीय बैठक में उन्होंने फिर इसे लेकर कड़े निर्देश दिए और रिपोर्ट मांगी।

दूसरी तरफ कोरोना संक्रमण की समीक्षा के दौरान अधिकारियों ने सीएम योगी आदित्यनाथ को बताया कि पिछले 24 घंटों में राज्य में कोरोना संक्रमण के 16 नए मामले सामने आए हैं। इस अवधि में 28 व्यक्तियों को ठीक होने पर अस्पताल से छुट्टी दी गई। अब सक्रिय मामलों की संख्या 214 है। इस पर सीएम योगी ने कानपुर नगर में डाक्टरों की विशेष टीम भेजने के निर्देश दिए।

उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार सभी 75 जिलों में कम से कम एक-एक मेडिकल कालेज की स्थापना के लिए कृतसंकल्पित है। जल्द ही नौ जिलों में नवनिर्मित मेडिकल कालेजों का लोकार्पण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 14 जिलों में मेडिकल कालेज की स्वीकृति मिल गई है। मुख्यमंत्री ने इनके शिलान्यास की तैयारी करने के निर्देश दिए हैैं।